फ्लाइट में महिला पर पेशाब करने वाला आरोपी शंकर मिश्रा पकड़ा गया, बेंगलुरु से हुई गिरफ्तारी

26 नवंबर 2022 को एयर इंडिया की फ्लाइट में बिजनेस क्लास में सफर कर रही एक महिला पर शंकर मिश्रा ने पेशाब कर दिया था. मामला सार्वजनिक होने के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था.

बेंगलुरु

Air India की फ्लाइट में एक बुजुर्ग महिला पर पेशाब करने वाला आरोपी शंकर मिश्रा आखिरकार पकड़ा गया. आज दिल्‍ली पुलिस ने उसे बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है. बता दें कि 26 नवंबर 2022 को एयर इंडिया की फ्लाइट न्यूयॉर्क से दिल्ली पहुंच रही थी. इस दौरान बिजनेस क्लास में सफर कर रहे शंकर मिश्रा ने नशे में धुत्त होकर 70 साल की महिला पर पेशाब कर दिया था. लेकिन इस मामले में रिपोर्ट 4 जनवरी 2023 को दर्ज हुई थी. मामला सार्वजनिक होने के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था. उसका पता लगाने के लिए लुकआउट सर्कुलर भी जारी किया गया था.

ये है पूरा मामला

26 नवंबर 2022 को न्‍यूयॉर्क-दिल्ली एयर इंडिया की फ्लाइट AI-102 में आरोपी शंकर मिश्रा नशे में धुत्त हालत में सफर कर रहा था. आरोप है कि उसने कथित तौर पर अपनी पैंट की जिप खोली और बिजनेस क्लास में बैठी 70 वर्षीय महिला सह-यात्री पर पेशाब कर दिया. बाद में उसने महिला से विनती की थी कि वो इस मामले की शिकायत पुलिस से न करे. इससे उसकी पत्‍नी और बच्‍चों पर असर पड़ेगा. 4 जनवरी 2023 को इस मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई.

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354,294,509,510 के तहत केस दर्ज किया है. रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से ही आरोपी शंकर मिश्रा फरार चल रहा था. दिल्ली पुलिस शंकर मिश्रा को ढूंढने के लिए लोकेशन को ट्रेस करने में जुटी हुई थी. आरोपी की लास्ट लोकेशन बेंगलुरु में मिली जिसके आधार पर उसकी तलाश की गई. आ‍ज उसे बेंगलुरु से ही गिरफ्तार किया गया.

कपड़े एवं बैग धुलवा दिए थे

चौंकाने वाली एक घटना के तहत पिछले साल 26 नवंबर को एअर इंडिया की न्यूयार्क-दिल्ली उड़ान के बिजनेस क्लास में मिश्रा ने नशे की स्थिति में कथित रूप से एक बुजुर्ग महिला यात्री के ऊपर पेशाब कर दिया था. मिश्रा ने अपने वकीलों– इशानी शर्मा और अक्षत वाजपेयी के माध्यम से जारी बयान में कहा कि उन्होंने 28 नवंबर को ही महिला के कपड़े एवं बैग धुलवा दिए थे और 30 नवंबर को उनके पास भेज दिए थे. बयान में कहा गया है, ‘‘व्हाट्सअप पर आरोपी और महिला द्वारा एक दूसरे को भेजे गये संदेश स्पष्ट दर्शाते हैं कि आरोपी ने 28 नवंबर को ही कपड़े एवं बैग साफ करवा दिए थे और 30 नवंबर को उनके पास भेज दिये थे.”

बेटी ने धनराशि लौटा दी

बयान में कहा गया है, ‘‘महिला ने अपने संदेश में स्पष्ट रूप से इस कथित हरकत को माफ किया है और शिकायत दर्ज नहीं कराने की मंशा प्रदर्शित की है. महिला की शिकायत एयरलाइन द्वारा पर्याप्त मुआवजा के भुगतान के सिलसिले में है, जिसे उन्होंने 20 दिसंबर, 2022 को आगे की शिकायत में उठाया.”बयान में कहा गया है कि आरोपी ने दोनों पक्षों के बीच जितने मुआवजे पर सहमति बनी, उसका (आरोपी द्वारा) 28 नवंबर को ही पेटीएम के माध्यम से भुगतान कर दिया, लेकिन करीब एक महीने बाद 19 दिसंबर को उनकी बेटी ने यह धनराशि लौटा दी.

वह रो रहा था

बयान में कहा गया है, ‘‘ केबिन क्रू (चालक दल) की जांच समिति के सामने दर्ज बयान बताते हैं कि इस घटना का कोई चश्मदीद नहीं है और सारी कहानी बस सुनी सुनायी बातों पर आधारित है. दोनों पक्षों के बीच विवाद निपटान की केबिन क्रू द्वारा सौंपे गये बयान में पुष्टि हुई है. ” बयान में कहा गया है, ‘‘आरोपी को देश की न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है और वह जांच प्रक्रिया में सहयोग करेगा.”बुधवार को दर्ज की गयी प्राथमिकी के अनुसार महिला ने चालक दल को बताया था कि वह पेशाब करने वाले का चेहरा नहीं देखना चाहती थी, जब उसे उसके सामने लाया गया, तो वह ‘रो रहा था और माफी मांग रहा था.’

आरोप पूरी तरह झूठे

इस बीच शंकर मिश्रा के पिता ने शुक्रवार को दावा किया कि उनके बेटे पर लगे आरोप ‘पूरी तरह झूठे’ हैं. उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह से झूठा मामला है. मेरे बेटे के अनुसार, उसने खाना खाया और उड़ान के दौरान सो गया. वह 34 साल का है और मुझे नहीं लगता कि वह ऐसा कुछ कर सकता है. उसकी पत्नी और एक बेटी है.’

Show More
Back to top button
Join Our Whatsapp Group