श्रीकांत त्यागी करना चाहता है सरेंडर, ग्रेटर नोएडा कोर्ट में लगाई अर्जी

नोएडा
नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी (Grand Omaxe Society) में महिला से बदसलूकी करने वाले भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) ने वकील के जरिये सरेंडर करने के लिए ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित जिला न्यायालय में अर्जी दी है। कोर्ट ने इसके लिए 10 अगस्त का समय दिया है। इससे पहले सरेंडर की सूचना को लेकर कोर्ट परिसर के आसपास पुलिस फोर्स तैनात की गई। कोर्ट परिसर में आने वाले सभी वाहनों की जांच की जा रही है।

नोएडा में ढहाया गया श्रीकांत त्यागी का अवैध निर्माण
इससे पहले नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) के वर्क सर्कल 8 की टीम ने श्रीकांत त्यागी द्वारा सोसायटी में किए गए अतिक्रमण पर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई की गई। प्राधिकरण की कार्रवाई को लेकर महिलाओं ने सोसायटी में मिठाई बांटकर खुशी जताई।

श्रीकांत त्यागी पर 25,000 का इनाम घोषित
कमिश्नरेट गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी पर 25000 रुपये का इनाम घोषित किया गया है। बताया जा रहा है कि अगर श्रीकांत त्यागी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा तो इसके बाद भगौड़ा और कुर्की की कार्रवाई की जाएगी।

प्राधिकरण की टीम व सोसायटी के लोगों के बीच हुई बहस
इस दौरान नोएडा प्राधिकरण के नियोजन विभाग के महाप्रबंधक इश्तियाक अहमद मौके पर मौजूद रहे। इससे पहले अतिक्रमण हटाने पहुंची टीम व सोसायटी के लोगों के बीच गेट पर बहस हुई। कार्रवाई करने पहुंची टीम का कहना है कि सोसायटी के कामन एरिया में अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसी को लेकर बहस हुई।

भंगेल में मिली श्रीकांत त्यागी की 15 अवैध दुकानें
सोसायटी में अतिक्रमण ध्वस्त करने के बाद नोएडा प्राधिकरण की टीम भंगेल पहुंची है। प्राधिकरण को यहां श्रीकांत त्यागी की 15 अवैध दुकानें होने की जानकारी मिली है। इन दुकानों पर कार्रवाई की जा सकती है। भाजपा महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता की भी दुकान में हिस्सेदारी होने की जानकारी मिली है, हालांकि अभी इसकी जांच की जा रही है।

पुलिस से आंख मिचौली का खेल खेल रहा श्रीकांत त्यागी
महिला से अभद्रता के मामले में फरार चल रहा भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी बार बार अपनी लोकेशन बदलकर पुलिस को चकमा दे रहा है। जानकारी के मुताबिक रविवार को उसकी लोकेशन ऋषिकेश में मिली, जबकि हरिद्वार में वह सीसीटीवी में कैद हुआ है। उसने बीते रविवार को 11 बार मोबाइल स्विच आफ और आन किया। इससे पुलिस गुमराह हो रही है। बता दें कि श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी के लिए शुक्रवार को चार टीमें बनाई गई थीं। रविवार आते-आते टीमों की संख्या 12 पहुंच गई है। 12 टीमों में शामिल 40 से अधिक पुलिसकर्मी संदिग्धों से पूछताछ और सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button