स्पाइसजेट की स्थिति ‘रनवे 34’ जैसी थी, यात्रियों ने बयां किया खौफनाक मंजर

नई दिल्ली
मुंबई से पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर जा रहा स्पाइसजेट का बोइंग विमान रविवार को तूफान में फंस गया था। इसमें सवार लगभग 40 यात्री घायल हो गए। इनमें से कई यात्रियों की हालत गंभीर स्थिति में है। गनीमत इस बात की रही कि घटना के समय पायलट ने समझदारी दिखाते हुए विमान को रनवे पर सुरक्षित उतार दिया था। फिलहाल घायलों का अस्पताल में इलाज जारी है। अस्पताल में ही यात्रियों ने उस खौफनाक मंजर का दर्द बयां किया है।

दरअसल, यह घटना उस समय हुई थी जब पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में अचानक स्पाइसजेट का SG-945 विमान लैंडिंग के दौरान कालबैसाखी तूफान में फंस गया था। दुर्घटना के समय स्पाइसजेट का यह विमान पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर में काजी नजरूल इस्लाम हवाई अड्डे पर उतरने का प्रयास कर रहा था। उधर अस्पताल में भर्ती यात्रियों ने घटना के बारे में बताया तो ऐसा लगा कि यह हाल ही में रिलीज हुई बॉलीवुड फिल्म रनवे34 जैसी डरावनी घटना घटी है।

यात्रियों ने बताया विमान के अंदर लगे जोर के झटके
इंडिया टुडे ने अपनी एक ऑनलाइन रिपोर्ट में घायल यात्रियों से बात की जिन्होंने अपना दर्द साझा किया। एक यात्री मोहम्मद इनामुल अंसारी ने बताया कि लैंडिंग से आधे घंटे पहले उनको कुछ हल्के झटके महसूस हुए। फिर कुछ देर बाद बड़े झटके लगने शुरू हुए जिससे उनकी सीट भी टूट गई। वहीं दूसरे यात्री ने भी यही बताया कि लैंडिंग से कुछ वक्त पहले उनको झटके लगे। प्लेन ऊपर-नीचे हिल रहा था।

कई यात्रियों की सीट बेल्ट टूट गई
एक अन्य यात्री ने बताया कि तूफान में फंसने के बाद सभी यात्री क्रू के आदेशों का पालन कर रहे थे। सबने अपनी सीट बेल्ट को अच्छे से बांध लिया था। लेकिन लैंडिंग इतने खतरनाक तरीके से हुई कि कई यात्रियों की सीट बेल्ट टूट गई। इससे कई यात्रियों को चोट लगी। जिस यात्री ने ये बात बताई, उसको खुद सिर में चोट लगी है। एक घायल महिला यात्री ने कहा कि लैंडिंग से पहले बाहर तेज बिजली कड़क रही थी, उसी वक्त प्लेन में झटके लगने लगे।

एक दूसरे के ऊपर गिर रहे थे यात्री
हैरानी की बात यह भी है कि विमान के अंदर इतने झटके लगे कि कई यात्री अपनी सीट से दूर जा गिरे। अस्पताल में भर्ती एक और यात्री ने बताया कि विमान लगातार ऊपर और नीचे जा रहा था। यात्री ने बताया कि ऐसा लगा जैसे विमान पलट जाएगा। इसी खतरनाक हालात में पायलट ने किसी तरह विमान को सुरक्षित लैंड कराया। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि दस यात्रियों की हालत गंभीर है लेकिन वे खतरे से बाहर हैं। उधर घटना के बाद जांच के आदेश दिए गए हैं कि तूफान में विमान कैसे फंस गया। स्पाइसजेट ने इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर खेद व्यक्त किया है और कहा कि घायलों की हर संभव मदद की जा रही है।

 

Related Articles

Back to top button