कर्नाटक में 4 महीने से चले आ रहे हिजाब विवाद में आतंकवादी संगठन

बेंगलुरु। हिजाब विवाद को लेकर अलकायदा के सरगना अल-जवाहिरी के बयान ने सनसनी फैला दी है। कर्नाटक में 4 महीने से चले आ रहे हिजाब विवाद  में आतंकवादी संगठन अलकायदा की एंट्री ने इस पूरे आंदोलन पर सवाल खड़े कर दिए हैं। कर्नाटक के गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने अलकायदा के कथित सरगना अल-जवाहिरी के बयान के बाद आंदोलन के पीछे आतंकियों के हाथ होने की आशंका जताई है। वहीं, हिजाब गर्ल के पिता ने जवाहिरी को पहचानने से मना कर दिया है। बता दें कि कर्नाटक हाईकोर्ट स्कूल-कॉलेजों में जारी हिजाब बैन के जायज ठहरा चुका है। अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है।

मांड्या के एक कॉलेज के बाहर भगवाधारी लड़कों की भीड़ के सामने अल्लाहु अकबर के नारे लगाती एक लड़की का वीडियो वायरल हुआ था। मुस्कान नामक इस लड़की को 'हिजाब गर्ल' के नाम से पुकारा जाने लगा है। इसे लेकर मंगलवार को आतंकी संगठन अल कायदा ने एक वीडियो जारी किया था। अल कायदा का सरगना अल-जवाहिरी 9 मिनट के इस वीडियो में मुस्कान की तारीफ में कविता सुनाते देखा गया था।

हालांकि जवाहिरी के वीडियो पर मुस्कान के पिता ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि वे नहीं जानते कि ये अल-जवाहिरी कौन है? उनका या उनके परिवार का अलकायदा से कोई संबंध नहीं है। वहीं, कर्नाटक के गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने इस विवाद के पीछे आतंकियों का हाथ होने की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि अलकायदा का सरगना का हिजाब विवाद पर बयान देना यह साबित करता है।

बता दें कि अलकायदा ने अरबी भाषा में वीडियो जारी किया था। इसे SITE इंटेलीजेंस ग्रुप ने अंग्रेजी सबटाइटल दिए। इसमें जवाहिरी कहते सुना गया कि उसे सोशल मीडिया के जरिये मुस्कान के बारे में मालूम चला।

अलकायदा के वीडियो के बाद  शासकीय पीयू कॉलेज प्रबंधन समिति उडुपी के उपाध्यक्ष और भाजपा नेता यशपाल सुवर्णा(Yashpal Suvarna) ने कहा-मैंने पहले ही बता दिया था कि हिजाब के छह छात्रों के पीछे एक आतंकी संगठन का हाथ है। ऐसे में अलकायदा नेता उन छात्रों का समर्थन कर रहा है।

वहीं असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमाHimanta Biswa Sarma) ने कहा भारतीय मुसलमान अल कायदा प्रमुख अयमान अल जवाहिरी के आह्वान का जवाब नहीं देंगे।

Related Articles

Back to top button