आतंकवादियों की पुलवामा दोराने की साजिश नाकाम, बांडीपोरा-सोपोर हाईवे पर 16 किलो आइईडी निष्क्रिय बनाई

श्रीनगर
कश्मीर में तेजी से बेहतर होते हालात आतंकवादी संगठनों को रास नहीं आ रहे हैं। घाटी में आतंकवाद को जिंदा रखने, लोगों में अपना डर कायम रखने के इरादे से आतंकवादी संगठन बड़े-बड़े हमलों की योजनाएं बना रहे हैं परंतु हमारे सतर्क जवान आतंकियों की हरेक साजिश को नाकाम बना देते हैं।

कश्मीर में एक बार फिर पुलवामा दोहराने की आतंकवादियों की योजना को सुरक्षाबलों ने अपनी सतर्कता से नाकामयाब बना दिया। सुरक्षाबलों के साथ-साथ आम लोगों को निशाना बनाने के लिए आतंकवादियों ने बांडीपोरा-सोपोर हाईवे पर 16 किलो आरइईडी लगा रखी थी, जिसका सुरक्षाबलों ने समय रहते पता लगा लिया और फिर एक सुरक्षित स्थान पर ले जाकर उसे निष्क्रिय बना दिया।
 
पुलिस का कहना है कि ये आइईडी हाईवे के किनारे लगाई गई थी। यदि आतंकवादी अपनी साजिश में कामयाब हो जाते तो इससे सुरक्षाबलों के साथ-साथ आम लोगों को भी काफी नुकसान पहुंचता। आइईडी को हाईवे से हटाकर बड़े ही एहतियात के साथ रिहायशी इलाके से दूर ले जाकर निष्क्रिय बना दिया गया है। आइईडी निष्क्रिय करने के बाद बांडीपोरा-सोपोर हाईवे पर वाहनों की आवाजाही को फिर से बहाल कर दिया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि उत्तरी कश्मीर के जिला बांडीपोरा के अस्तांगू इलाके में करीब 15-16 किलोग्राम वजनी ये आइईडी दो गैस सिलिंडर के साथ लगाई गई थी। सेना की कानवाई रवाना होने से पहले रोड ओपनिंग पार्टी जब हाईवे की जांच कर रही थी, तभी उन्हें सड़क किनारे एक संदिग्ध वस्तु दिखी।
 
जांचने पर जवान यह देखकर हैरान रह गए कि आतंकवादियों ने यहां 15 से 16 किलो आइईडी गैस सिलेंडर के साथ लगाई हुई है। जवानों ने हाईवे पर वाहनों की आवाजाही को तुरंत रोक दिया और बम निष्क्रिय दस्ते को सूचित किया। पुलिस, सेना और बीडीएस की टीम मौके पर पहुंच गई है। अधिकारी ने कहा कि बीडीएस टीम ने बड़े ही सुरक्षित ढंग से आइईडी को दूर ले जाकर निष्क्रिय बना दिया।

इस बीच सुरक्षाबलों के एक संयुक्त दल ने आसपास के इलाकों में आतंकवादियों की तलाश में सर्च आपरेशन भी चलाया परंतु जब कोई संदिग्ध नहीं दिखा तो अभियान को समाप्त कर दिया गया। आइईडी के निष्क्रिय होते ही हाईवे पर फिर से वाहनों की आवाजाही सुचारू कर दी गई है।

Related Articles

Back to top button