बुर्का पहनकर घूमता पकड़ा गया मंदिर का पुजारी, पुलिस से बोला- चेचक है… लेकिन शरीर पर कोई निशान नहीं

कोझिकोड
 
केरल के कोझिकोड जिले में बुर्का पहनकर संदिग्ध तरीके से घूम रहा मंदिर का पुजारी पकड़ा गया, जिसे लोगों ने पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने रविवार को बताया कि पुजारी को ऑटो चालकों ने 7 अक्टूबर को कोयिलैंडी जंक्शन पर पकड़ा था। पुजारी की पहचान जिष्णु नंबूथिरी के तौर पर हुई है, जो 28 साल का है। पुलिस अधिकारी ने बताया, 'आम लोगों ने पुजारी को बुर्के में घूमते हुए देखा। उसकी गतिविधियां लोगों को संदिग्ध लगीं जिसके बाद उसे पुलिस को सौंप दिया गया। हालांकि, पुजारी के खिलाफ किसी तरह के अपराध की कोई शिकायत नहीं थी। इसलिए, परिजनों के थाने पहुंचने के बाद हमने उसे जाने की अनुमति दे दी।'

जांच में चेचक का कोई निशान नहीं मिला
कोयिलैंडी में मेप्पयूर के पास स्थित मंदिर के पुजारी ने पुलिस को बताया कि उसने बुर्का इसलिए पहना था, क्योंकि वह चेचक से पीड़ित है। पुलिस के मुताबिक, प्रारंभिक जांच में चेचक का कोई निशान नहीं मिला। पुलिस ने पुजारी का नाम, पता और अन्य जानकारी की पड़ताल के बाद उसे छोड़ दिया।

गौरतलब है कि पैगंबर मुहम्मद के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाए जाने वाले ईद-मिलाद-उन-नबी के अवसर पर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने प्रदेशवासियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री इस समय यूरोप के दौरे पर हैं। उन्होंने अपने ट्विटर और फेसबुक पेज पर कहा कि इस अवसर पर लोगों को पैगंबर मुहम्मद के प्रेम, दया और भाईचारे के संदेश को आत्मसात करना चाहिए।

 

Related Articles

Back to top button