मिड डे मील बनाने वाली रसोइयों का वेतन बढ़ा, अब हर माह मिलेंगे इतने रुपये

गाजियाबाद
परिषदीय स्कूलों में बच्चों के लिए मिड-डे मील (Mid-Day Meal) तैयार करने वाली रसोइयों को अब हर माह दो हजार रुपये मानदेय मिलेगा। प्रदेश स्तर से इस प्रस्ताव पर पहले ही मुहर लग चुकी है। अभी तक इन्हें 15 सौ रुपये का भुगतान किया जाता था। जुलाई से इन्हें बढ़े हुए वेतन के हिसाब से भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा दो साड़ियां और पांच लाख के बीमा का भी लाभ मिलेगा। गाजियाबाद जनपद में 448 परिषदीय स्कूल हैं। इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए मिड-डे मील तैयार करने के लिए 489 रसोइया तैनात हैं। पूरे माह खाना बनाने के बाद इन रसोइयों को अभी तक केवल 1500 रुपये का भुगतान किया जाता है।

अल्प मानदेय पर काम करने वाले बेसिक शिक्षा विभाग के रसोइयों की ओर से काफी लंबे समय से वेतन बढ़ाने की मांग की जा रही थी। हालांकि, शासन की ओर से पिछले साल भी वेतन बढ़ाने की बात कही गई थी, लेकिन अब वेतन बढ़ाकर देने की पूरी तैयारी कर ली गई है। जानकारी के मुताबिक, स्कूल खुलने के बाद जुलाई माह से ही बढ़े हुए वेतन का भुगतान किया जाएगा। हर रसोइया को दी जाएंगी दो साड़ी : 500 रुपये वेतन बढ़ाने के साथ ही रसोइयों को यूनिफॉर्म के रूप में हर साल दो साड़ियां भी दी जाएंगी। वहीं, खाना बनाने के दौरान एप्रन और हेयर कैप का अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करना होगा। एप्रन और हेयर कैप खरीदने के लिए पैसा सीधा रसोइयों के बैंक खाते में भेजा जाएगा। खाते में रुपये भेजने की व्यवस्था बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से की जाएगी।

पांच लाख के बीमा का भी लाभ मिलेगा
500 रुपये अतिरिक्त मानदेय, दो साड़ी, एप्रन और हेयर कैप के अलावा सरकार की ओर से रसोइयों के लिए पांच लाख तक के स्वास्थ्य बीमा कवर का भी ऐलान किया गया है। हर रसोइया को पांच लाख तक के बीमा का भी लाभ मिलेगा। इसके लिए तैयारी की जा रही है। जल्द ही सभी रसोइयों का बीमा भी करा दिया जाएगा। बीएसए बृज भूषण चौधरी ने कहा कि रसोइयों के वेतन में 500 रुपये की वृद्धि की गई है। छुट्टियों के बाद स्कूल खुलने पर जुलाई माह से हर रसोइया को 2000 रुपये मासिक का भुगतान किया जाएगा।  

 

Related Articles

Back to top button