बिहार में एक जगह ऐसी भी जहां लगता है ‘भूतों का मेला’, पूरे नवरात्रि होता है भूत-प्रेत का खेल

रोहतास
 पूरा विश्व विज्ञाम के क्षेत्रों में काफी आगे निकल चुका है, लेकिन आज भी बिहार के कई ऐसे जिले हैं जहां प्रेत-आत्माओं पर लोग यक़ीन रखते हैं। अंधविश्वास की ये इंतेहा है कि लोग भूत प्रेत घूमने की बात करते हैं। आज हम आपको बिहार के ऐसे जिले के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां शारदीय नवरात्र पर अनोखा ही मंजर दिखने को मिलता है। हम बात कर रहे हैं रोहतास जिले के घिन्हू ब्रह्म स्थान की जहां शारदीय नवरात्र का नज़ारा बिलकुल अलग होता है।
 
प्रेत-आत्माओं से आजाद होने की कोशिश
ग्रामीणों की मानें तो भूतों का मेला लगने की वजह से कोई महिलाएं सिर हिलाती नजर आती हैं, तो कहीं जमीन पर लेटकर औरतें प्रेत-आत्माओं से आजाद होने की कोशिश कर रही होती हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि यहा भूत-प्रेत इंसान की शक्ल में घूमते रहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि यहां पूरे नवरात्र भूत-प्रेत का खेल चलता रहता है। इसलिए यहां आने वाले लोग ( पुरुष और महिला) अजीबो गरीब हरकतें करते हुए नजर आते हैं।
 
प्रेत-आत्माओं से निजात पाने के लिए आते हैं लोग
स्थानीय लोगों ने बताया कि भूत-प्रेत के इस मेले में जिले के अलावा दूसरे प्रदेश के लोग भी प्रेत-आत्माओं से निजात पाने के लिए यहां पहुंचते हैं। इस मेला में ज़्यदातार गरीब वर्ग के लोग ही शामिल होते हुए नज़र आते हैं। इसके साथ ही महिलाओं को प्रेत बाधा से मुक्ति के लिए खासकर ओझा-तांत्रिक प्रपंच रचते हैं। रोहतास के घिनहु ब्रह्म स्थान में लगे भूतों के मेले में किसी भी उच्च वर्ग के लोग नहीं नज़र आते हैं। इस मेले में ज्यादातर गरीब और पिछड़े वर्ग के लोग ही शिरकत करते हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group