त्रिपुरा: हत्या के तीन आरोपी पुलिस पर हमला कर जेल से फरार, जांच पैनल का होगा गठन

इंफाल

त्रिपुरा के कंचनपुर सब-जेल से पुलिस हिरासत से तीन आतंकवादी फरार हो गए। ये तीनों सनसनीखेज लिटन दास हत्याकांड के आरोपी थे। कैदियों ने पहले ऑन-ड्यूटी पुलिस और जेल पुलिस कर्मियों पर काबू पाया और फिर भागने में सफल रहे। उत्तर त्रिपुरा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जैकब डारलोंग ने कहा कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। उन्होंने कहा, "यह सच है कि वे पुलिस हिरासत से भाग गए हैं। इस संबंध में एक जांच चल रही है। जल्द से जल्द उनका पता लगाने के लिए पुलिस संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।"

लिटन दास को उनके आवास से बंदूक की नोक पर अगवा कर लिया गया था। महीनों बाद उनका शव मिजोरम-त्रिपुरा सीमा पर स्थित घने जंगलों से निकाला गया। पुलिस सूत्रों ने बताया, "आरोपियों को हत्या मामले के संबंध में आज उत्तरी त्रिपुरा जिला अदालत में पेश किया गया था। अदालत की कार्यवाही के बाद, पुलिस उन्हें कंचनपुर उप-जेल वापस ले गई। जब पुलिस जेल का मुख्य द्वार खोलने में व्यस्त थी, तभी आरोपियों ने उन पर हमला कर दिया। इसके बाद वे पुलिस कर्मियों को चकमा देने में सफल रहे और फरार हो गए।"

फरार कैदियों की पहचान जिबनरिआंग, चनमोनी रियांग और लाफांगा रींग के रूप में की गई है। अतिरिक्त एसपी जैकब डारलोंग ने यह भी कहा कि जांच करने के लिए इंक्वायरी पैनल का गठन किया जाएगा। इस दौरान यह देखा जाएगा कि किसी तरह की लापरवाही तो नहीं हुई। लापरवाही मिलने पर दोषियों के खिलाफ एक्शन भी होगा।

Related Articles

Back to top button