रामनवमी के मौके पर कई राज्यों में हिंसा

नई दिल्ली
रामनवमी के मौके पर रविवार को मध्य प्रदेश से लेकर बंगाल तक देश के कई राज्यों में सांप्रदायिक झड़प की घटनाएं हुई हैं। गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और झारखंड में ये घटनाएं हुई हैं। रामनवमी के मौके पर शोभायात्रा या जुलूस निकाले जाने के दौरान ये झड़पें हुई हैं। फिलहाल कई शहरों में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ पाबंदियां लगाई गई हैं। आइए जानते हैं, आखिर मध्य प्रदेश से लेकर बंगाल तक रामनवमी के मौके पर हिंसा की घटनाएं कहां-कहां हुईं और इसकी क्या वजहें रही हैं। इसके अलावा सरकार ने क्या कदम उठाए हैं, इसके बारे में भी जानते हैं।
 
MP के खरगोन में हिंसा, पुलिसवाले भी आए चपेट में
मध्य प्रदेश के खरगोन में लोगों के जुटने पर पाबंदी लगा दी गई है। रविवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान हुई हिंसक झड़प में तीन पुलिसकर्मियों समेत कई लोग जख्मी हो गए हैं। इस घटना में किसी की भी मौत की खबर नहीं है, लेकिन 10 लोग घायल हुए हैं। हिंसा के बाद जिले में कानून व्यवस्था की स्थिति को संभालने के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया। फिलहाल स्थिति कंट्रोल में है। इस घटना को लेकर राज्य के मंत्री कमल पटेल ने कहा कि अराजक तत्वों ने शहर के माहौल को खराब करने का काम किया है। मैंने आईजी और कलेक्टर से बात की है। उपद्रव करने वाले लोगों को बख्शा नहीं जाएगा, जिन्होंने कानून को अपने हाथ में लिया था।

बंगाल में हिंसा पर अधिकारी बोले- क्या सनातन धर्म बैन है   
बंगाल के हावड़ा से भी हिंसक झड़प की खबर है। जिले के शिवपुर इलाके में रामनवमी के जुलूस पर भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने हमले का आरोप लगाया है। एक पुलिस सिपाही और अफसर पर भी हमले की बात कही जा रही है। इस हिंसा में कई लोग जख्मी हो गए। इस घटना पर सवाल उठाते हुए अधिकारी ने कहा कि क्या राज्य में सनातन धर्म पर प्रतिबंध लग गया है? इस घटना पर हावड़ा पुलिस ने लिखा, 'शिवपुर पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले इलाके में हम शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रयास कर रहे हैं। हम सभी से अपील करते हैं कि वे संयम बनाए रखें और सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की भड़काऊ चीजें शेयर न करें।'

गुजरात से भी आई हिंसक झड़प की खबरें
भाजपा शासित राज्य गुजरात से भी रामनवमी के मौके पर हिंसा की खबर आई है। कहा जा रहा है कि यहां रामनवमी के जुलूस पर पत्थर फेंके गए, जिसमें एक युवक की मौत हो गई। गुजरात में हिंसा की दो घटनाएं हुईं। एक घटना गांधीनगर से 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हिम्मतनगर में हुई। इसके अलावा खंभात में भी एक घटना हुई। पुलिस अधिकारी आशीष भाटिया ने कहा कि कई जगहों से रामनवमी पर हिंसा की खबर सामने आई है। ये घटनाएं मुस्लिम बहुल इलाकों में हुईं, जहां से रामनवमी के जुलूस निकले थे। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

झारखंड के लोहरदगा में हिंसा, धारा 144 लगी
झारखंड में हिंसक घटनाओं के चलते लोगों के जुटने पर पाबंदियां लगाई गई हैं। राज्य के लोहरदगा में रविवार को दो समूहों के बीच झड़प के बाद धारा 144 लगा दी गई। एसडीएम अरविंद कुमार लाल ने कहा, 'दो समूहों में झड़प और पत्थरबाजी की घटनाओं के चलते लोहरदगा के हिरही गांव में धारा 144 लगाई गई है।' हालांकि इस बीच एक अच्छी तस्वीर पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से सामने आई है, जहां एक मुस्लिम युवक रामनवमी के जुलूस में शामिल लोगों को पानी पिलाते दिखा। इस स्वागत के लिए जुलूस में शामिल लोगों ने मुस्लिम युवाओं को धन्यवाद दिया।

JNU में ABVP और लेफ्ट विंग के छात्रों में झड़प
मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों के अलावा दिल्ली की जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में भी छात्र संगठनों के बीच हिंसक झड़प हुई है। लेफ्ट संगठनों और एबीवीपी ने एक-दूसरे पर उकसाने का आरोप लगाया है। लेफ्ट छात्रों का कहना है कि वह हॉस्टल में चिकन बना रहे थे और इसी दौरान उन पर अटैक हुआ। इसके अलावा एबीवीपी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि वह पूजा कर रहे थे और उसमें व्यवधान पैदा किया, जिसके चलते विवाद हो गया।

 

Related Articles

Back to top button