शिवसेना बनाएगी भाजपा के साथ सरकार? एकनाथ शिंदे की शर्त पर संजय राउत बोले –

मुंबई
संजय राउत ने कहा कि एकनाथ शिंदे के पास 26 विधायकों का समर्थन नहीं है, लेकिन उनके पास 17 से 18 विधायक हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा ऑपरेशन लोटस करना चाहती है तो हम चुनौती देते हैं कि ऐसा करके दिखाएं। संजय राउत ने कहा कि हमारे 4 विधायक गुजरात से आना चाहते थे, लेकिन उन्हें पुलिस ने पकड़ लिया। हमने अभी-अभी एकनाथ शिंदे को विधायक दल के नेता पद से हटा दिया है। हालांकि संजय राउत ने दावा किया कि मीटिंग में कुल 35 विधायक थे और 7 से 8 नेता आ नहीं सके। उन्होंने कहा कि यदि मुंबई पुलिस सूरत जा पाती है तो फिर सभी विधायक वापस आ जाएंगे।

विधायकों की जान को खतरा है, यही लोकतंत्र को खतरे की बात
सूरत में रखे गए हमारे विधायकों का कहना है कि हमारी जान खतरे में है। यदि हमारे विधायकों की जान को खतरा है तो फिर लोकतंत्र को खतरा है। संजय राउत ने कहा कि एकनाथ शिंदे हमारे मित्र हैं और साथी हैं। उन्हें सब कुछ दिया तो पार्टी ने ही है। यदि यह पार्टी नहीं होती तो फिर हमारी पहचान क्या होती। बालासाहेब ठाकरे के जाने के बाद उद्धव ठाकरे की लीडरशिप में ही पार्टी है और उन्होंने एकनाथ शिंदे को दो बार मंत्री बनाया गया। संजय राउत ने कहा कि एकनाथ शिंदे के साथ जो मंत्री गए हैं, उनके पद को छीन लिया जाएगा। इसके अलावा अगले 24 घंटे में एकनाथ शिंदे पर भी ऐक्शन हो सकता है।

सूरत में बैठे विधायक डर गए हैं, लौटना चाहते हैं
उन्होंने कहा कि सूरत में बैठे विधायक डर गए हैं कि यदि उनकी विधायकी चली गई तो फिर उन्हें दोबारा इलेक्शन लड़ना होगा। संजय राउत ने कहा कि एक विधायक कैलाशनाथ पाटिल तो भाग कर आए हैं और 4 किलोमीटर तक पैदल चल कर आए हैं। शरद पवार की ओर से इस मसले को शिवसेना का आंतरिक मामला बताने पर संजय राउत ने कहा कि कल रात को सुप्रिया सुले और जयंत पाटिल ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। आज शाम को फिर कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं से मीटिंग रहेगी। भाजपा के सरकार बनाने के दावे पर कहा कि हमारे विधायकों को पहले हमें सौंपों और फिर बात करते हैं।

राउत ने खुद बताया, कौन से मंत्री गए हैं शिंदे के साथ
संजय राउत ने नाम लेकर खुद बताया कि कौन से मंत्री एकनाथ शिंदे के साथ गए हैं। उन्होंने कहा कि संदीपन भुमरे, अब्दुल सत्तार और देसाई उनके साथ गए हैं। एकनाथ शिंदे की ओर से यह शर्त रखे जाने पर कि भाजपा के साथ सरकार बनाओ तो साथ देंगे, के दावे पर राउत ने कहा कि भाजपा ने हमें 10 बार अपमानित किया है। हम उनके साथ कैसे जाएंगे। राउत ने कहा कि फिलहाल हम उन्हें समझा रहे हैं, लेकिन ऐक्शन लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा यदि सोचती है कि ऑपरेशन लोटस कामयाब हो जाएगा तो ऐसा नहीं कर पाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button