Tuesday, October 20th, 2020
Close X

किरोड़ी बैसला का गहलोत सरकार को एक नवंबर तक का अल्टीमेटम


भरतपुर

प्रदेश में गुर्जर की ओर से महापंचायत (gurjar mahapanchayat) के ऐलान के बाद समाज के सभी बड़े नेताओं ने गांव अड्डा ( bharatpur adda village ) में डेरा जमाया। इस दौरान जहां दिनभर सरकार की ओर से भेजे गए विशेष दूत आईएएस नीरज.के. पवन से किरोड़ी समेत सभी नेताओं की वार्ता चली। वहीं उसके साथ ही समाज के लोगों के बीच भी आरक्षण के विभिन्न पहलूओं पर चर्चा हुई। वहीं शाम को आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष किरोड़ी बैसला ने सरकार को कड़े शब्दों में अल्टीमेटम दे दिया। साथ ही मांग पूरी ना होने पर प्रदेश का चक्का जाम करने की चेतावनी भी दी।


यह कहा कर्नल किरोड़ी बैसला ने
दिनभर चली जद्दोजेहद के बाद महापंचायत के साथ ही कर्नल किरोड़ी बैंसला ने सरकार को कड़े रवैये के साथ अल्टीमेटम दिया। इस दौरान गुर्जर महापंचायत के गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने दी चेतावनी कि यदि सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी तो अब एक नवंबर को पूरे प्रदेश में करेंगे चक्का जाम करेंगे। इसी चेताव के साथ महापंचायत हुई खत्म हुई।


भारी पुलिस बल था तैनात
आपको बता दें कि गुर्जर महापंचायत में 20 गांव के लोगों के इकट्ठा होने की बात बताई जा रही है। कानून व्यवस्था सुचारू रूप से बनीं रहे, लिहाजा सरकार भी इस दौरान अलर्ट मोड पर दिखाई दी। प्रशासन ने एहतियात के तौर पर भरतपुर के अड्डा गांव के अलावा आसपास के बयाना, बैर, भुसावर, रूपवास समेत कई जगह पर शुक्रवार रात 12 बजे से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी थी। साथ ही यहां 2350 जवान तैनात किए गए हैं। दूसरी ओर सरकार की ओर से वार्ता के लिए सीनियर आईएएस नीरज .के. पवन को भेजा गया था। उल्लेखनीय है कि गुर्जर समाज की ओर से पहले 17 अक्टूबर को सवाई माधोपुर के मलारना डूंगर पर महापंचायत की घोषणा की गई थी। लेकिन इसके बाद भरतपुर में इसे लेकर फैसला किया गया।

Source : Agency

आपकी राय

3 + 5 =

पाठको की राय