Tuesday, September 21st, 2021
Close X

CM शिवराज-वीडी, सुहास-हितानंद की मंथन बैठक, पॉवर शेयरिंग के लिए पॉलिटिकल अपॉइंटमेंट जल्द

भोपाल
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात कर भोपाल लौटे सीएम शिवराज सिंह चौहान रविवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा के साथ मंथन कर रहे हैं। राजधानी से दूर कोलार डैम गेस्ट हाउस में चल रही इस बैठक में निगम-मंडल, बोर्ड में की जाने वाली नियुक्तियों और भाजपा संगठन में शेष बचे प्रवक्ता, पैनलिस्ट और प्रकोष्ठ-प्रकल्प के नामों पर चर्चा हो रही है। इसके बाद यह माना जा रहा है कि अब जल्द ही राजनीतिक नियुक्तियों की शुरुआत हो सकती है।

संभावित निगम मंडल, बोर्ड अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के नामों पर चर्चा के लिए बैठक करने के पहले प्रदेश अध्यक्ष शर्मा और संगठन महामंत्री भगत, सह संगठन महामंत्री हितानंद सीएम निवास पहुंचे थे। यहां से सभी एक साथ सीहोर जिले में स्थित कोलार डैम गेस्ट हाउस पहुंचे। इसके बाद वहां संगठन और सत्ता में एडजस्ट किए जाने वाले नामों को लेकर चर्चा हो रही है।

प्रदेश अध्यक्ष शर्मा द्वारा प्रदेश कार्यसमिति और प्रदेश पदाधिकारियों को जिला और संभाग प्रभारी तथा केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं से संबंधित प्रमुख योजनाओं, प्रकोष्ठ और मोर्चों का प्रभारी बनाए जाने के बााद यह तय हो गया है कि जिन्हें इसमें मौका मिल गया है वे अब निगम मंडल की सूची से बाहर होंगे। इसके बाद अब शेष बचे दावेदारों और वरिष्ठ नेताओं के समर्थकों के नामों पर मंथन कर उन्हें निगम मंडल में पद दिए जाने की कवायद की जा रही है। इसमें यह भी साफ है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भाजपा में आए नेताओं और उपचुनाव हारने वाले पूर्व मंत्रियों विधायकों को भी कोई न कोई पद दिया जाएगा। केंद्रीय संगठन ने इसके लिए सीएम और प्रदेश नेतृत्व के निर्देश दिए हैं। सूत्रों का कहना है कि सूची में कुछ चौंकाने वाले नाम भी शामिल हो सकते हैं।

शिवराज सरकार में मंत्री रहे एदल सिंह कंसाना, इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया पिछले साल हुए विधानसभा उपचुनाव में हार गए थे। इसके बाद उनका मंत्री छिन गया था। सिंधिया लंबे समय से इन्हें निगम मंडल में मौका दिए जाने को लेकर सक्रिय रहे हैं और इन तीनों नेताओं को भी नियुक्ति का इंतजार है। माना जा रहा है कि अब इस बार का सावन का महीना उनके लिए खुशियां वापस लाएगा और उन्हें निगम मंडल में अध्यक्ष की कुर्सी मिल सकेगी।

 

Source : Agency

आपकी राय

15 + 3 =

पाठको की राय