Tuesday, September 21st, 2021
Close X

सूखी और बलगम वाली खांसी में अंतर और उपचार के तरीके

खांसी की समस्या आमतौर पर किसी को भी हो जाती है। यह मौसम में बदलाव की वजह से हो सकती है, या किसी तरह की खाने पीने की चीजों की वजह से भी हो जाती है। दो तरह की खांसी होती हैं, जिनके उपचार का तरीका भी एक दूसरे से अलग है। लेकिन लोग सुखी खांसी और बलगम वाली खांसी के लिए एक से उपाय या उपचार के तरीके आजमाते हैं, जिन्हें अपनाने से स्थिति आसानी से काबू में नहीं आती।

इसलिए आज हमें खांसी से जुड़ी जानकारी और उपचार की प्रक्रिया के बारे में बताएंगे डॉक्टर संदीप अरोड़ा, जो नाक, कान और गले के एक्सपर्ट भी हैं। आइए जानते हैं डॉक्टर संदीप से कि आखिर किस तरह आप अपनी सुखी खांसी और बलगम वाली खांसी का उपचार कर सकते हैं। इसके अलावा इन दोनों ही खांसी की वजह क्या है और यह दोनों कैसे एक दूसरे से अलग हैं।

सूखी खांसी किस वजह से आती है

सूखी खांसी की मुख्य वजह ब्रोन काइटिस में एलर्जी हो सकती है। इसके अलावा बहुत से लोगों को एसिडिटी और अस्थमा की वजह से भी सूखी खांसी की समस्या हो सकती है। सूखी खांसी के दौरान आपको गले में दर्द रह सकता है। ऐसे में अगर आप एक अस्थमा के मरीज हैं तो आपको थोड़ा अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

​सूखी खांसी के उपाय क्‍या हैं

सूखी खांसी से राहत पाने के लिए आपको कुछ चीजों से बेहद दूरी बनानी होगी, तो कुछ चीजों को अपनी दिनचर्या में शामिल करना होगा। तभी आप जल्दी ही सूखी खांसी से राहत पा सकते हैं।

इसके लिए यह देखें कि अगर आपको किसी चीज से एलर्जी है तो उसका सेवन ना करें।
अधिक ठंडी चीजों का सेवन करना बंद कर दें। इससे आपको खांसी में आराम मिलेगा।
सूखी खांसी से छुटकारा पाने के लिए आप पानी अधिक पिएं।
मसालेदार खाने पीने की चीजें और चाय कॉफी का सेवन बेहद कम कर दें।
कफ सीरप से कहीं ज्‍यादा फायदेमंद होती है शहद, गर्म पानी के साथ लेने पर मिलता है तुरंत फायद

​गिली खांसी की वजह क्‍या है?

अगर आपको गीली खांसी है तो यह भी किसी तरह की एलर्जी का कारण हो सकती है। लेकिन ऐसे में खांसी की वजह महज एलर्जी है या कोई गंभीर समस्या है। यह आप खांसी में निकलने वाले बलगम को देख कर समझ सकते हैं। अगर बलगम सफेद रंग का है तो यह एक साधारण एलर्जी हो सकती है। वहीं अगर बलगम का रंग पीला, हरा है या फिर बलगम में खून दिखाई दे रहा है तो यह एक गंभीर स्थिति की ओर इशारा भी हो सकता है।

​गीली खांसी के उपचार

अगर लंबे समय तक आपको गीली या बलगम वाली खांसी दिखाई दे, तो बिना समय खराब किए और डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा अपनी चेस्ट का एक्सरे या सीटी स्कैन कराएं। आपको बता दें कि गीली खांसी के दौरान बलगम में खून आने की समस्या कैंसर के मरीजों में भी देखने को मिलती हैं। इसलिए गीली खांसी का समय पर उपचार जरूर कराएं।

Source : Agency

आपकी राय

11 + 6 =

पाठको की राय