Friday, October 22nd, 2021
Close X

शासन की मदद एवं स्वयं की मेहनत से हुसैन ने अपनी राह खुद बनायी

बिलासपुर
तखतपुर के ग्राम बिनौरी में 15 एकड़ में केले की खेती मल्चिंग विधि से कर श्री शकील हुसैन को इस साल 15 लाख की आमदनी हुई है। श्री हुसैन परम्परागत फसलों की खेती से इतर वृहद क्षेत्र में केले एवं पपीते का उत्पादन कर रहे हैं। जिससे उन्हें अच्छी आमदनी मिल रही है।

श्री हुसैन ने बताया कि उन्हें इस योजना के संबंध में जानकारी उद्यानिकी विभाग द्वारा मिली। जानकारी मिलने पर मंैने उन्नत तकनीक से खेती करने का मन बना लिया। उन्होंने बताया कि वे सभी लोग की भांति वे हमेशा से चाहते थे कि अपने परिवार का भरण पोषण अच्छे से कर सके। आज उनका यह सपना शासन के सहयोग से पूरा हो रहा है। उन्होंने बताया कि उद्यानिकी विभाग द्वारा उन्हें समय-समय पर मार्गदर्शन एवं पूरा सहयोग दिया गया। मुझे इस योजना के तहत् अनुदान भी विभाग द्वारा दिया गया । मैने 15 एकड़ में केले की खेती मल्चिंग विधि से की है। इस पद्धति में खरपतवार से फसल का बचाव होता है एवं मजदूरी का खर्च भी कम पड़ता है। उन्होंने बताया कि केले की खेती में कम लागत आती है एवं इसकी मार्केटिंग बहुत आसान है। प्रति एकड़ फसल में एक लाख रूपए तक की आमदनी हो जाती है। इसके अतिरिक्त उन्होंने इस वर्ष चार एकड़ में पपीते की भी खेती की है। उद्यानिकी विभाग द्वारा सिंचाई के लिए ड्रीप पद्धति से सिंचाई की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। उन्नत तकनीक से केले एवं पपीते का उत्पादन उनके लिए फायदे का सौदा बन गया है।

Source : Agency

आपकी राय

11 + 10 =

पाठको की राय