Friday, October 22nd, 2021
Close X

किडनी अच्छी रखने को खाये यह नमक

भोजन में मसालों के साथ ही नमक मिलाना भी उतना ही जरूरी माना जाता है। इससे भोजन का उचित स्वाद आता है और खाना स्वादिष्ट लगता है। सब्जियों और मांस के अलावा कई बार भूने हुए मेवे में भी नमक का इस्तेमाल किया जाता है। नमक न मिलाने से इसका स्वाद खराब हो जाता है और टेस्ट बड को भोजन का आनंद नहीं आता है।

अपने भोजन को खाने लायक बनाने के अलावा, नमक आयोडीन का एक स्रोत है। यह एक पोषक तत्व जो थायरॉयड ग्रंथि के कार्य को रेगुलेट करने में मदद करता है और शरीर में फ्लुइड को संतुलित करता है। हालांकि, नमक में पाए जाने वाले सोडियम का बहुत अधिक सेवन करने पर हाई ब्लड प्रेशर, किडनी की समस्या और हृदय रोग हो सकते हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक दिन में 1.5 ग्राम से 2.3 ग्राम नमक खाना सुरक्षित है। हालांकि, यदि आप अपने सोडियम सेवन के बारे में चिंतित हैं, तो ये 5 टेबल सॉल्ट किडनी के लिए अच्छे हो सकते हैं।
​सेंधा नमक

यह आमतौर पर नमक की खानों और भूमिगत खनिज जमाव में पाया जाता है। सेंधा नमक क्रिस्टल रेगुलर टेबल नमक का सबसे अच्छा विकल्प है। इसका सेवन ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने और पाचन क्रिया को सुधारने के लिए किया जाता है। साथ ही यह मेटाबोलिज्म को भी बढ़ाता है।

​हिमालयन पिंक सॉल्ट

हिमालयन पिंक सॉल्ट हाल ही में अपने न्यूट्रिशनल वैल्यू के कारण अधिक लोकप्रिय हुआ है। इस किस्म में 84 खनिज पाए जाते हैं। शरीर के पीएच संतुलन को बनाए रखने, रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने, बेहतर नींद लाने और बढ़ती उम्र के असर को कम करने के लिए, विशेषज्ञ हिमालयन पिंक सॉल्ट के नियमित और सीमित सेवन की सलाह देते हैं।

तेजी से आपको दुबला कर सकता है किचन में रखा ये गुलाबी नमक, जाने कैसे करें प्रयोग

​हिमालयन ब्लैक सॉल्ट

इसका स्वाद् तीखा होता है और इसे आमतौर पर काला नमक भी कहा जाता है। इसका इस्तेमाल नींबू पानी, फलों के सलाद और गोल गप्पे जैसे स्ट्रीट डिलाइट्स में किया जाता है। इसमें सोडियम की कम मात्रा होती है जिससे यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है, आंखों की रोशनी में सुधार करता है और पाचन में सहायता करता है।

​न्यूट्रिशनल यीस्ट

यह सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन टेबल सॉल्ट की जगह डिएक्टिवेटेड यीस्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह बी-विटामिन और फोलिक एसिड का एक अच्छा स्रोत। साथ ही यह भोजन के स्वाद को बढ़ाता है।

समुद्री नमक

समुद्री नमक वाष्पित समुद्री जल से प्राप्त होता है। यह खनिजों से समृद्ध नमक की एक अनरिफाइंड किस्म है। विभिन्न रंगों और किस्मों में उपलब्ध, यह भोजन को एक विशिष्ट स्वाद प्रदान करता है और नियमित टेबल नमक के इस्तेमाल को कम करने में मदद करता है। समुद्री नमक इम्यूनिटी को बढ़ाता है, सामान्य सर्दी से उबरने में मदद करता है और वजन घटाता है।

Source : Agency

आपकी राय

8 + 3 =

पाठको की राय