Friday, October 22nd, 2021
Close X

अंतरराष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता पर कार्यशाला

रायपुर
गुरुकुल महिला महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना व क्रीडा विभाग के संयुक्त तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय  मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें बताया गया कि किसी भी व्यक्ति के शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य दोनों ही जरूरी है, यदि कोई व्यक्ति शारीरिक स्वस्थ है पर मानसिक  स्वास्थ्य खराब है तो उन्हें अपने जीवन में कई प्रकार की परेशानियां का सामना करना पड़ता है। मानसिक स्वास्थ्य व्यक्ति की क्षमताओं को बताता है जिससे आत्मविश्वास आता है कि वे जीवन में तनाव से सामना कर सके।

नर्सिंग में एसोसिएट प्रोफेसर हेजल कुमार, सोशल मोबिलाइजेशन कोआॅर्डिनेटर है सुश्री कामिनी अठावले, एलाइंस फॉर बिहेवियर चेंज टेक्निकल सपोर्ट एंड गाइ७डेंस बाय यूनिसेफ हैं मनीष कश्यप व मनजीत सिंह ने मानसिक स्वास्थ्य विषय  व माहवारी विषय पर जानकारी दी। हेजल कुमार ने बताया कि हर साल 10 अक्टूबर को मेंटल हेल्थ डे मनाया जाता है। सही मायने में मेंटल हेल्थ क्या है और इसे कैसे ठीक रखें, हम तनाव से कैसे निपट सकते हैं, हम अपने जीवन को बैलेंस कैसे बना कर रख सकते हैं, बचपन से लेकर किशोर अवस्था और से वयस्क जीवन के हर कदम में मेंटल हेल्थ की अहम भूमिका है। उन्होंने एंजायटी, डिप्रैशन, ईटिंग डिसआॅर्डर, अब्सेंटरिज्म, सुसाइडल टेंडेंसी के बारे में बताया। मनीष कश्यप सर द्वारा महामारी विषय पर बात की, उन्होंने कहा कि यह एक ऐसा विषय है जिस पर हमें बात करनी चाहिए। यदि कोई समस्या आए तो उसका समाधान कर सके। इसके अलावा छात्राओं से कुछ सवाल भी किए गए जिसमें सही जवाब देने पर उन्हें पुरुस्कृत भी किया गया। प्रथम मानसी सरकार, विनीता और डोली विजेता रही।

Source : Agency

आपकी राय

7 + 5 =

पाठको की राय