Tuesday, January 25th, 2022

द. अफ्रीका से लौटने वाले यात्री में पुष्टि, US में मिला ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला केस

कैलिफॉर्निया

अमेरिका ने बुधवार को देश में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला मिलने की पुष्टि की है। अमेरिका के कैलिफॉर्निया में यह पहला केस मिला है। चिंता की बात यह है कि कोरोना के नए वैरिएंट की पुष्टि दक्षिण अफ्रीका से आए उस यात्री में हुई है, जिसने टीके की दोनों डोज ले ली थी। हालांकि, इस शख्स में संक्रमण के हल्के लक्षण पाए गए हैं।

सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) की ओर से जारी बयान के मुताबिक, संक्रमित शख्स 22 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से लौटा था और अभी तक उसके निकट संपर्क में आए लोग जांच में निगेटिव पाए गए हैं।

मीडिया से बातचीत के दौरान अमेरिका के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी एंथनी फॉची ने बताया कि 29 नवंबर को यह मरीज कोविड संक्रमित पाया गया था। उन्होंने कहा, 'हमें अच्छा लग रहा है कि मरीज में न सिर्फ हल्के लक्षण हैं, बल्कि जो लक्षण दिख रहे थे उनमें भी सुधार है।' हालांकि, उन्होंने नए वैरिएंट को लेकर चेताते हुए यह भी कहा कि जब तक इसपर अधिक जानकारी नहीं मिलती, कुछ भी कहना मुश्किल है।

नए वैरिएंट से संक्रमित कोविड टीके की दोनों डोज ले चुका है। ऐसे में फॉची ने बूस्टर डोज को एक बेहतर विकल्प बताया। उन्होंने कहा कि इससे टीका लेने वाले के शरीर में एंटीबॉडीज बढ़ेंगी ही और कुछ तो कोरोना के नए वैरिएंट्स से लड़ने में भी कामयाब हो सकती हैं।

उन्होंने कहा, 'डेल्टा वैरिएंट के साथ हमारा अनुभव यह बताता है कि वैक्सीन विशेष तौर पर इस वैरिएंट से लड़ने के लिए नहीं बनी थी, लेकिन जब आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में एंटीबॉडीज होती हैं, तो यह किसी भी वैरिएंट से लड़ने में काम आती हैं।' हालांकि, वास्तविक स्थिति को समझने के लिए फॉची ने कुछ समय मांगा।

Source : Agency

आपकी राय

7 + 1 =

पाठको की राय