मुलायम सिंह यादव ने खड़ी की सपा, दो दर्जन परिवार वालों ने दिया साथ

लखनऊ
 यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव का निधन हो गया। लंबे समय की बीमारी के बाद उनका निधन हो गया। मुलायम सिंह यादव ने यूपी की राजनीति में अपना खुद का एक नाम बनाया और केवल अपना ही नहीं बल्कि सपा का भी। उन्होंने अपनी पार्टी को यूपी की राजनीति में उस मुकाम पर पहुंचाया कि उनकी पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ 3 बार सरकार बनाने में सक्षम थी। वहीं अब मुलायम सिंह यादव अपने पीछे एक विरासत छोड़ गए हैं। केवल मुलायम यादव ही नहीं बल्कि उनके भाई, बेटा, भतीजा और बहुओं तक ने राजनीति में अपना नाम बना लिया है।

बेटे और बहुओं ने संभाली कमान
मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की हैं। उनकी पहली पत्नी, मालती देवी से उन्होंने 1957 में शादी की जिनकी लंबी बीमारी के बाद मई 2003 में मृत्यु हो गई। मालती देवी से उन्हें एक बेटा है। मुलायम और मालती देवी के बेटे अखिलेश यादव भी राजनीति में उतरे और यूपी के 20वें मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। अखिलेश 2012 से 2017 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। मुलायम का साधना गुप्ता के साथ लंबे समय तक रिश्ता रहा। दोनों ने 2003 में शादी की थी। वहीं 9 जुलाई 2022 को साधना गुप्ता की मृत्यु हो गई। साधना का पहली शादी से प्रतीक यादव नाम का एक बेटा है। प्रतीक की पत्नी अपर्णा बिष्ट यादव 2022 में भाजपा में शामिल हुईं। वहीं अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव ने कन्नौज का प्रतिनिधित्व करने वाली समाजवादी पार्टी से भारतीय संसद के सदस्य के रूप में दो बार सेवा की है।

 

Related Articles

Back to top button