फ्री हिट के नियम में बदलाव चाहते हैं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान, Ind vs Pak मैच के बाद दिया ये तर्क

 नई दिल्ली
 
ऑस्ट्रेलिया की टीम के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का कहना है कि मेलबर्न में भारत बनाम पाकिस्तान टी20 विश्व कप मैच के तथाकथित विवादस्पद रूप से फिनिश के बाद खेल के कुछ नियमों को दुरुस्त किया जाना चाहिए। भारत ने 20वें ओवर की अंतिम गेंद पर जीत हासिल की। भारत ने ये मैच 4 विकेट से जीता, लेकिन मोहम्मद नवाज के इसी ओवर में एक फ्री हिट हुई, जिस पर विराट कोहली क्लीन बोल्ड हो गए, लेकिन वे बाई के रूप में 3 रन दौड़ने में सफल हुए। इसी को लेकर मार्क टेलर चाहते हैं कि नियमों में बदलाव हो।

भारत को जब जीत के लिए 3 गेंदों में 5 रन चाहिए थे तो विराट कोहली फ्री हिट पर बोल्ड हो गए थे, लेकिन गेंद थर्ड मैन की दिशा में चली गई थी, जहां विराट ने दिनेश कार्तिक के साथ मिलकर तीन रन दौड़ लिए। नियमों के मुताबिक, 3 रन टीम इंडिया को मिलने चाहिए थे, जो मिले भी थे। हालांकि, पाकिस्तान टीम के कप्तान और बाकी खिलाड़ियों ने इस पर विरोध किया, लेकिन फील्ड अंपायर अपने फैसले पर अड़े रहे, क्योंकि ये आईसीसी के नियमों के खिलाफ नहीं था कि भारत को रन नहीं दिए जाने चाहिए।

आईसीसी के नियम 20.1 के अनुसार, गेंद तब डेड हो जाती है जब वह "आखिरकार विकेटकीपर या गेंदबाज के हाथों में आ जाती है" या "एक बाउंड्री हो जाती है" या "एक बल्लेबाज आउट हो जाता है।" हालांकि, बल्लेबाज को न तो बोल्ड किया जा सकता है और न ही फ्री हिट पर कैच आउट किया जा सकता है। ऐसे में गेंद स्टंप्स पर लगने के बाद डेड नहीं होगी और रन लिए जा सकते हैं और इसका पूरा अधिकार भारतीय टीम के पास था।
 
इसी पूरे मामले पर मार्क टेलर ने वाइड वर्ल्ड ऑफ स्पोर्ट्स पर कहा कि बल्लेबाजी टीम को ऐसे परिदृश्य से लाभ नहीं उठाना चाहिए जो आमतौर पर डिसमिसल के कारण होता है। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि अगर गेंद स्टंप्स से टकराती है तो आप वास्तव में एक अनुचित लाभ प्राप्त कर रहे हैं। सबसे पहले, जैसा कि हमने रविवार की रात को देखा, गेंद कहीं भी जा सकती है, और दूसरी बात ये कि यदि फील्डिंग करने वाली टीम बल्लेबाज को रन आउट करने की कोशिश कर रही है और बेल्स पहले से ही जमीन पर हैं और आपको स्टंप को हटाना होगा, तो यह भी कठिन है।"

 

Related Articles

Back to top button