Kubereshwar Dham Sehore: रुद्राक्ष महोत्सव में एक दिन पहले ही पहुंचे हजारों श्रद्धालु

Kubereshwar Dham Sehore: रुद्राक्ष महोत्सव और शिव महापुराणा की कथा के लिए श्रद्धालुओं में जबरदस्त उत्साह है.

Kubereshwar Dham Sehore: उज्जवल प्रदेश, सीहोर. महोत्सव के एक दिन पहले सीहोर के नजदीक स्थित कुबेश्वर धाम आश्रम पर देश के विभिन्न प्रदेशों और जिलों से हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंच गए हैं. रुद्राक्ष महोत्सव 16 फरवरी से 22 फरवरी तक चलेगा. इस दौरान सीहोर वाले पंडित प्रदीप मिश्रा कुबेश्वर धाम में शिवमहापुराण की कथा का वाचन भी करेंगे.

रुद्राक्ष वितरण के लिए काउंटर

इस सात दिवसीय आयोजन के दौरान रुद्राक्ष वितरण के लिए 36 काउंटर लगाए जाएंगे. इन पर सातों दिन 24 घंटे रुद्राक्ष का वितरण किया जाएगा.इस आयोजन को देखते हुए इंदौर-भोपाल फोरलेन हाईवे आगामी सात दिन तक सुबह छह से रात दस बजे तक बंद रहेगा.रुद्राक्ष महोत्सव में देश भर से दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है.श्रद्धालु अब पहुंचने भी लगे हैं. आयोजन स्थल पर श्रद्धालुओं की बड़ी तादाद को देखते हुए बड़े-बड़े डोम तैयार किए गए हैं.

चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर और कुबेश्वर महादेव मंदिर में होने वाले रुद्राक्ष महोत्सव में सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए जिले के बाहर से पुलिस बल मांगा गया है.पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के अनुसार एक हजार का पुलिस बल बाहर से आ रहा है.रुद्राक्ष वितरण महोत्सव में ड्रोन कैमरों से निगरानी कराई जाएगी.

Also Read: Kubereshwar Dham Sehore: रुद्राक्ष महोत्सव में एक दिन पहले ही पहुंचे हजारों श्रद्धालु

कथा को‎ सुनने के लिए हजारों की संख्या में‎ श्रद्धालु पहुंचने लगे हैं।‎ कथास्थल पर लगे डोम फुल हो चुके‎ हैं, इसलिए श्रद्धालु गांव में ही अपना‎ ठिकाना ढूंढ रहे हैं। यही वजह है कि‎ ग्रामीणों ने अपने घरों को होटल-धर्मशाला‎ की तरह बना लिया है। खेत तक किराए‎ पर दे दिए हैं। जहां जगह खाली बची,‎ वहां पार्किंग बना ली है, जिसका बाकायदा‎ चार्ज लिया जा रहा है।‎

मंगलवार सुबह से शाम के बीच‎ महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, उप्र, बिहार,‎ झारखंड और छत्तीसगढ़ से हजारों श्रद्धालु‎ यहां पहुंचे। रुकने के लिए डोम में जगह‎ नहीं मिली तो गांव में कमरा किराए से लेने‎ निकले। कानपुर (उप्र) से आईं उमा यादव ने‎ बताया कि एक घर में रुकने के लिए एक दिन‎ का किराया पांच हजार रुपए मांग रहे हैं‎, जबकि किसी निजी स्कूल में रुकना हो तो‎ 1200 रुपए प्रतिदिन देना होंगे। बच्चे, बूढ़े‎ और घर के युवक-युवतियां भी साथ में‎ हैं। नहाने के लिए कुएं-बोरिंग के इस्तेमाल‎ के भी 50 रुपए देना पड़ रहे हैं, जबकि‎ घर के बाथरूम में नहाने के 100-100‎ रुपए वसूले जा रहे हैं।‎

खेत में खाने-पीने की चीजें बेचने‎ वाले दुकानदार ने बताया कि खेत के 10‎ बाय 20 फीट के टुकड़े पर 8 दिन‎ (15 से 21) फरवरी तक दुकान लगाने के‎ लिए 15 हजार रु. खेत मालिक को देना‎ पड़ेंगे। कुछ एडवांस दे चुके हैं। बाकी‎ भी दो-तीन दिन में दे देंगे। फल का ठेला‎ लगाने वाले रामप्रसाद ने बताया कि हमने‎ भी इतना ही टुकड़ा किराए पर लिया है।‎ आठ दिन तक ठेला लगाने के लिए 10‎ हजार रु. चुकाना पड़ेंगे।‎

भोपाल-इंदौर हाइवे पर ट्रैफिक रोकेंगे

इस आयोजन की वजह से अगले सात दिन तक इंदौर-भोपाल फोरलेन हाईवे पर भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.सुबह छह बजे से रात दस बजे तक भारी वाहनों के प्रवेश पर निषेध रहेगा.पिछले रुद्राक्ष महोत्सव के दौरान पैदा हुई अव्यवस्थाओं को देखते हुए जिला प्रशासन इस बार यह व्यवस्था की है. इंदौर जाने वाले और भोपाल आने वाले भारी वाहन सीहोर होकर नहीं गुजरेंगे.इंदौर से भोपाल आने वाले वाहनों को देवास से डायवर्ट कर दिया जाएगा, जबकि भोपाल से इंदौर जाने वाले वाहनों को श्यामपुन-ब्यावरा मार्ग से भेजा जाएगा.

Also Read: कैसे पहुंचे Kubereshwar Dham Sehore, जानिए कौन सा रास्ता है बंद

पंडित प्रदीप मिश्रा की कथा सुनने के लिए बीते साल लाखों लोग आए थे.कथा स्थल पर करीब 70 एकड़ में पार्किंग व्यवस्था रहेगी. इसके लिए जमीन तय की गई है. यातायात प्रभारी ब्रजमोहन धाकड़ के अनुसार चौपाल सागर से भटोनी जोड़ तक के छह किलोमीटर मार्ग पर वाहनों को खड़ा करने पर प्रतिबंध रहेगा.इंदौर की तरफ से आने वाले भारी वाहन यदि देवास के आगे से भोपाल आता है उसे डोडी चौकी के पास स्थित डाबर मैदान पर खड़ा कराया जाएगा.वहीं भोपाल की तरफ से इंदौर आने वाला भारी वाहन यदि फंदा टोल तक आता है तो उसे तूमड़ा जोड़ से दोराहा होते ही श्यामपुर मार्ग से देवास रवाना किया जाएगा.

टू-व्हीलर खड़ी करने का 10 रु. ,‎ फोरव्हीलर का 20 रु. चार्ज

चितावलिया हेमा, भटोनी रोड,‎ नापलाखेड़ी और गुडबेला के आसपास‎ जहां भी जगह खाली पड़ी है, वहां‎ पुलिस ने पार्किंग व्यवस्था की है, वहीं‎ जिन रास्तों से कुबेरेश्वर धाम का रूट‎ बनाया गया है, उन रास्तों पर पड़ने‎ वाले खेत के मालिकों ने भी पार्किंग‎ बना ली है। कथा स्थल पर आने वाले‎ श्रद्धालुओं से टू- व्हीलर के 10 व‎ फोर व्हीलर के 20 रुपए पार्किंग शुल्क‎ लिया जा रहा है।‎

Kubereshwar Dham में 24 घंटे में 30 काउंटर से बांटे जाएंगे 24 लाख रुद्राक्ष

महोत्सव में 16 से 21 फरवरी के बीच हर दिन 24 घंटे 30 काउंटरों से रुद्राक्ष बांटे जाएंगे। 22 एकड़ में बने रुद्राक्ष वितरण केंद्र तक पहुंचने के लिए पुलिस ने जिग-जैग पाइप लगाए हैं, ताकि श्रद्धालु आसानी से कतार में लगकर रुद्राक्ष प्राप्त कर सकें। सात दिन में 24 लाख रुद्राक्ष बांटने का लक्ष्य रखा गया है। इसकी पुष्टि खुद पं. प्रदीप मिश्रा ने की है। पुलिस ने भी सुरक्षा का दायरा बढ़ा दिया है।

Related Articles

Back to top button