विधानसभा चुनाव में मिली हार से Mayawati ने लिया सबक, BSP ने निकाय चुनाव को लेकर बनाया ये गेम प्लान

Bahujan Smaj Party की मुखिया Mayawati आम चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने में जुट गई है।बसपा नगर निगम का चुनाव सिंबल पर लड़ने जा रही है। इसके पीछे पार्टी का मकसद पार्टी के संगठन को मजबूत करना है। हाल ही में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में बीएसपी को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। एक समय में अपने दम पर यूपी में सरकार बनाने वाली मायावती की पार्टी केवल एक सीट पर ही सिमट कर रह गई थी। इससे सबक लेते हुए अब मायावती ने नगर निकाय के चुनावों में उतरने का फैसला किया है ताकि संगठन को फिर से पुराने लेवल पर ले जाया सके।

शहरी एवं स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर हुई बैठक
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने शुक्रवार को पार्टी कार्यकर्ताओं को आगामी शहरी स्थानीय निकाय चुनाव की तैयारी शुरू करने का निर्देश दिया। चुनाव की रणनीति पर चर्चा के लिए यहां पार्टी नेताओं और पदाधिकारियों की बैठक हुई। प्रत्याशियों की स्क्रीनिंग का जिम्मा जिला कमेटी को सौंपा गया है। समिति नगर निगमों में पार्षद के प्रत्येक पद के साथ-साथ नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों के सदस्यों के लिए तीन नामों को अंतिम चयन के लिए प्रभारी क्षेत्र को अग्रेषित करेगी।

उम्मीदवार को कई मानकों पर परखा जाएगा
उम्मीदवार की जीत योग्यता चयन का मुख्य मानदंड होगा। चुनाव लड़ने के इच्छुक उम्मीदवारों को निर्देश दिया गया है कि वे अपना बायोडाटा जिला समिति के पास जमा करें। बसपा के एक नेता ने कहा कि मेयर और अध्यक्ष पदों के लिए उम्मीदवारों को पार्टी की केंद्रीय समिति द्वारा अंतिम रूप दिया जाएगा। बसपा के वरिष्ठ नेता अखिलेश अंबेडकर ने कहा, 'पार्टी प्रमुख मायावती के निर्देश पर पूरे उत्तर प्रदेश में प्रत्येक संभाग में शहरी स्थानीय निकाय चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के लिए बैठकें हो रही हैं।

Related Articles

Back to top button