बिहार से मानसून की हुई विदाई, एक पखवारे में 80 प्रतिशत अधिक हुई बारिश

 पटना
 
बिहार से मानसून की विदाई हो गई। अब राज्य भर में अगले पांच दिनों तक मौसम शुष्क रहेगा और तापमान में आंशिक गिरावट आएगी। अगले दस दिनों में गुलाबी ठंड का आगमन हो जाएगा। शनिवार को राज्य भर में पछुआ हवा का प्रभाव बनने, वातावरण में जलवाष्प की कमी और वर्षा में अचानक कमी होने से मौसम विभाग ने मानसून की वापसी की आधिकारिक घोषणा की। मौसम विभाग के अनुसार अगले दो से तीन दिनों में छतीसगढ़, महाराष्ट्र, झारखंड और ओडिशा के कुछ अंदरुनी हिस्से से और पूरे पश्चिम बंगाल से मानसून की वापसी के लिये अनुकूल परिस्थितियां बन रही हैं। सूबे में इस बार मानसून का मिजाज अलग रहा। बिहार, झारखंड और उत्तरप्रदेश में मानसून के मध्य काल में बारिश की काफी किल्लत रही जबकि देश के शेष हिस्सों में मानसून की सामान्य से अधिक बारिश हुई। मौसमविदों का कहना है कि जलवायु परिवर्तन का असर मौसमी गतिविधियों पर पड़ रहा है।

मध्यप्रदेश की ओर शिफ्ट होता रहा मानसून इस बार मानसून की झमाझम बारिश काफी कम ह्रुई। मानसून ट्रफ का बार-बार मध्यप्रदेश और ओडिशा की ओर शिफ्ट होना जारी रहा। इस वजह से पूर्वानुमान के मुताबिक बारिश नहीं हुई। सितंबर के आरंभ तक बारिश की 36 प्रतिशत कमी थी लेकिन अक्टूबर के आरंभ होने पर यह कमी 31 प्रतिशत रह गई है। मानसून सीजन के तीन महीने जुलाई, अगस्त और सितंबर में बारिश की काफी कमी रही जबकि जून और अक्टूबर में सामान्य से अधिक बारिश हुई। सबसे अधिक बारिश पोस्ट मानसून सीजन में बीते एक पखवारे में हुई। एक से 15 अक्टूबर के बीच राज्य भर में सामान्य से 80 प्रतिशत अधिक बारिश हुई। इस अवधि में 44.4 मिमी बारिश होनी चाहिये थी लेकिन 80 मिमी बारिश हुई है।

Related Articles

Back to top button