इन 5 सामनताओं के साथ खत्म हुआ एमएस धोनी और मिताली राज का करियर, पढ़कर आप भी रह जाएंगे दंग!

नई दिल्ली
 23 साल के लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर के बाद भारतीय कप्तान मिताली राज ने बुधवार को सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान किया। मिताली राज को महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर कहा जाता है क्योंकि इन दोनों खिलाड़ियों ने कम उम्र में डेब्यू कर लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट को अपनी सेवाएं दी। 26 जून 1999 को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वालीं मिताली राज ने अपना आखिरी मुकाबला महिला वर्ल्ड कप 2022 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला, इस मैच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा साथ ही टीम लीग स्टेज से ही बाहर हो गई। मिताली राज के रिटायरमेंट के बाद उनकी तुलना भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से होने लगी। ऐसे में रिटायर होने के बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच एक दो नहीं बल्कि 5 समानताएं निकली जिसे देखने के बाद हर कोई हैरान है।

– दोनों ने भारत के लिए सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी की धोनी ने बतौर कप्तान टीम इंडिया का 332 बार प्रतिनिधित्व किया, वहीं मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम 195 बार खेली।
 
– धोनी और मिताली राज ने भारत के लिए आखिरी मुकाबला वनडे वर्ल्ड कप में खेला।

– इस दौरान दोनों ही खिलाड़ियों ने अर्धशतक जड़ा।

– धोनी और मिताली के अर्धशतक के बावजूद टीम को हार का सामना करना पड़ा और भारत वर्ल्ड कप से भी बाहर हुआ।

– वर्ल्ड कप के बाद दोनों खिलाड़ियों ने बिना फेयरवेल मैच के रिटायरमेंट लिया।

बता दें, महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड में हुए 2019 वर्ल्ड में अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में भारत न्यूजीलैंड के हाथों हारकर बाहर हुआ था। धोनी ने अगले साल 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था।

 

Related Articles

Back to top button