प्रशांत किशोर ने विपक्ष और नीतीश कुमार पर बोला बड़ा हमला

पटना

प्रशांत किशोर ने विपक्ष और नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है। प्रशांत किशोर ने मंगलवार को दावा किया कि नीतीश कुमार ने उन्हें फिर से साथ काम करने का ऑफर दिया था। चुनावी रणनीतिकार पीके ने कहा कि 2014 में चुनाव हारने के बाद नीतीश कुमार ने दिल्ली आकर कहा था कि हमारी मदद कीजिए। 2015 में हमलोगों ने उनको जिताने में कंधा लगाया। अभी 10-15 दिन पहले बुलाकर बोले कि हमारे साथ काम कीजिए। हमने कहा कि ये अब नहीं हो सकता है। एक बार जो लोगों को वादा कर दिया है कि 3500 किमी चलकर गांव-गांव में जाकर लोगों को जगाना है, वही करेंगे। एक बार जनबल खड़ा हो गया, कोई टिकने वाला नहीं है, लिखकर रख लीजिए।

जन सुराज पदयात्रा के दौरान पश्चिम चंपारण के जमुनिया गांव में प्रशांत किशोर ने फंडिग के सवाल पर कहा, 'किसी से आजतक पैसा नहीं लिया हैं, अब जो पैसा ले रहे हैं। बिहार में बदलाव के लिए ले रहे हैं। यह पैसा मैं इस आंदोलन के लिए ले रहा हूं। यह पैसा हमारी ओर से यहां लगाए गए तंबू पर खर्च होता है।'

दरअसल ललन सिंह ने प्रशांत किशोर के विज्ञापन को लेकर सवाल उठाया था। ललन सिंह ने कहा था कि प्रशांत किशोर अपने अभियान को चाहे कोई भी नाम दें लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि वह बीजेपी की ओर से काम कर रहे हैं। ललन ने कहा कि अच्छी तरह से स्थापित राजनीतिक दलों को कितनी बार पूरे पृष्ठ का विज्ञापन देते हुए देखा गया है। उन्होंने कल अपनी पद यात्रा के लिए ऐसा किया। जेडीयू अध्यक्ष ने सवाल किया कि आयकर विभाग, सीबीआई या ईडी क्यों नहीं संज्ञान ले रहे हैं।

दलाली नहीं की है, अपनी बुद्धि से 10 साल काम किया: प्रशांत किशोर
इसी के जवाब में पीके ने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि जो लोग जानना चाहते हैं कि मुझे पैसा कहां से मिल रहा है, उन्हें पता होना चाहिए कि उनकी तरह मैंने दलाली नहीं की है। अपनी बुद्धि से 10 साल काम किया है। मैं एक डॉक्टर का बेटा हूं, देश भर में अपनी योग्यता साबित करने के बाद अपने गृह राज्य में काम करने की कोशिश कर रहा हूं।

Related Articles

Back to top button