अयोध्या दीपोत्सव में इस बार देर तक जलेंगे दीए, 14 लाख 50 हजार दीए जलाकर विश्व रिकार्ड बनाने की तैयारी

अयोध्या
 
रामनगरी अयोध्या में 23 अक्तूबर को होने वाले दीपोत्सव की तैयारी जोरों पर है। राम की पैड़ी व अन्य घाटों पर जलने वाले दीए इस बार अधिक समय तक जलेंगे, क्योंकि दीए की साइज बड़ा होने के साथ 40 एमएल तेल डाला जाएगा।  दीपोत्सव-2022 में विभिन्न घाटों पर 14 लाख 50 हजार दीए जलाकर विश्व रिकार्ड बनाने की शासन की मंशा है। दीए जलाने के लिए डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय को जिम्मेदारी सौंपी गई है। विश्वविद्यालय के नोडल अधिकारी प्रो. अजय प्रताप सिंह टीम के साथ रात-दिन एक करके दीपोत्सव को ऐतिहासिक बनाने में जुटे हैं। उन्होंने बताया कि राम की पैड़ी व अन्य घाटों पर दीपोत्सव में 20 हजार वालेंटियर्स अनुशासित रहकर 16 लाख दीए बिछाएंगे।

उन्होंने बताया कि 20 अक्तूबर तक तक सभी घाटों पर दीए पहुंच जाएंगे। 21 अक्तूबर से दीए बिछाने कार्य शुरू होगा। 22 अक्तूबर को दीयों की गणना होगी और 23 अक्तूबर को दीए में तेल बाती लगाने तथा शाम को जलाया जाएगा। नोडल अधिकारी ने बताया कि राम की पैड़ी पर दीपोत्सव के दो दिन पहले से 20 हजार स्वयंसेवकों की ड्यूटी लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इस बार दीप बेहद खास स्वरूप में तैयार किए गए हैं। यह कापी देर तक जलते रहेंगे। अभी तक दीए में 30 एमएल तेल डाला जाता था,  लेकिन इस बार दीयों के साइज को बड़ा किया गया है।

 

Related Articles

Back to top button