दिल्ली में बीते 23 सालों में सबसे भीषण ठंड,मकर संक्रांति से फिर सताएगी सर्दी

एमपी के आधे हिस्से में पिछले तीन दिनों से शीतलहर से थोड़ी राहत मिली है, लेकिन ग्वालियर-चंबल और बुंदेलखंड के इलाके अब भी कड़ाके की ठंड की चपेट में हैं। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले तीन-चार दिन तक मौसम में खास बदलाव की संभावना नहीं है, लेकिन मकर संक्रांति से शीतलहर का दूसरा दौर शुरू हो सकता है।

भोपाल
दिल्ली-NCR समेत पूरा उत्तर भारत भीषण ठंड की चपेट में है. दिल्ली में तो ठंड हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहा है. मौसम विभाग ने बताया कि बीते 23 सालों में दिल्ली में तीसरी बार इतनी भीषण ठंड पड़ी है. इसके साथ-साथ मौसम विभाग की तरफ से 14 जनवरी से फिर से ठंड बढ़ने की चेतावनी जारी की गई है. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए मौसम वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने कहा कि दिल्ली में 3-9 जनवरी तक 5 दिनों तक लगातार शीत लहर का अनुभव किया गया. इन पांच दिनों के दौरान, न्यूनतम तापमान लगभग दो से चार डिग्री रहा. उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार बीते 23 साल में तीसरा सबसे भीषण ठंड था. 14 जनवरी के बाद शीतलहर का एक और दौर शुरू हो सकता है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और राजस्थान में कड़ाके की सर्दी महसूस की जा रही है। दिल्ली में सर्दी ने 23 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। कोहरे के कारण वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है। पढ़िए अपने प्रदेश के मौसम का हाल

3-4 दिन ऐसा ही रहेगा मौसम, 14 से फिर बढ़ेगी ठंड

5 दिन से लगातार शीतलहर का सामना करने के बाद मंगलवार को थोड़ी राहत मिली। न्यूनतम तापमान में वृद्धि देखने को मिली। कोहरा तो रहा, लेकिन जल्द छंट गया। श्यता के स्तर में आंशिक सुधार दिखा। उत्तर भारत के कई क्षेत्रों में दिन में भी आंशिक तौर पर बादल छाए रहे, लेकिन बीच-बीच में धूप भी खिली। मौसम विभाग की मानें तो अभी तीन-चार दिन ठंड से राहत रहेगी। पश्चिमी विक्षोभ के कारण तीन दिन में उत्तर-पश्चिम भारत में न्यूनतम तापमान में दो से चार डिग्री सेल्सियस तक की वृद्धि हो सकती है, जबकि अधिकतम तापमान 20 और न्यूनतम डिग्री सेल्सियस तक जाने की संभावना है। इसके बाद 14 जनवरी से ठंड दोबारा परेशान करेगी और तापमान में भी गिरावट आएगी।

तीन दिन तक इन इलाकों में मौसम में बदलाव की खास उम्मीद नहीं है। बाकी इलाकों में धूप खिलने की वजह से शीतलहर से कुछ राहत जरूर है, लेकिन यह तीन-चार दिन के लिए ही है। संक्रांति से ठंड फिर जोर पकड़ेगी।

मौसम विभाग ने कहा है कि अगले 24 घंटे में उत्तर भारत में एक और वेस्टर्न डिस्टरबेंस पहुंच रहा है। इसके चलते दिल्ली एनसीआर, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में बारिश की संभावना है। वेस्टर्न डिस्टरबेंस के असर से उत्तर भारत के राज्यों में तेज ठंड और पहाड़ों पर बर्फबारी हो सकती है। मध्यप्रदेश के कई शहरों में 14 जनवरी को इसका प्रभाव नजर आ सकता है। मकर संक्रांति से दिन में कोहरा रहने और रात में कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group