दलित बनाम सवर्ण से यूं बचना चाहेगी पार्टी, बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आज से

नई दिल्ली 
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले शनिवार से बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक शुरू हो रही है। इस मीटिंग का मुख्य अजेंडा विधानसभा चुनाव ही रहेगा। इस बैठक में सवर्ण बनाम दलित मामले को लेकर टेंशन में चल रही पार्टी किसी वर्ग विशेष के पक्ष या विपक्ष में बोलने की बजाय समरसता का संदेश फैलाने पर जोर दे सकती है। यह भी माना जा रहा है कि दलितों के बीच अपना मेसेज देने के लिए ही पार्टी पहली बार अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली के आंबेडकर इंटरनैशनल सेंटर में करने जा रही है। बीजेपी की यह मीटिंग दिवंगत दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित होगी। 
 

इस मीटिंग में पार्टी मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम को लेकर अपनी रणनीति तैयार करेगी। बीजेपी सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक की थीम 'सदैव अटल' होगी और इसकी शुरुआत अटल जी को श्रद्धांजलि देने के साथ ही होगी। एक सीनियर बीजेपी लीडर ने कहा कि आंबेडकप इंटरनैशनल सेंटर अटलमय हो गया है। 

वाजपेयी के बगैर पहली राष्ट्रीय कार्यकारिणी 
बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा, 'यह राष्ट्रीय कार्यकारिणी की पहली ऐसी मीटिंग होगी, जिसमें वाजपेयी जी हमारे साथ नहीं होंगे। यहां तक कि जब वह बीमार थे, तब भी हम सोचते थे कि वह हमारे साथ हैं। बीजेपी ने उनके मार्गदर्शन में ही इन ऊंचाइयों को छुआ है।' कार्यकारिणी की बैठक की शुरुआत पार्टी चीफ अमित शाह के संबोधन के साथ होगी। इसमें वह दलितों से जुड़े मुद्दों पर भी बोल सकते हैं, जिन्हें लेकर फिलहाल राजनीति गरमाई हुई है। 

'अर्बन नक्सलियों' की गिरफ्तारी पर भी होगी चर्चा 
एनडीए सरकार के कार्यकाल में ही बनवाए गए आंबेडकर इंटरनैशनल सेंटर को भी बीजेपी ने इसीलिए मीटिंग के लिए चुना है ताकि दलितों के बीच संदेश दिया जा सके। इस मीटिंग में घरेलू और विदेश नीति से जुड़े मुद्दों पर एक राजनीतिक प्रस्ताव भी पारित किया जाएगा। इसके अलावा 'अर्बन नक्सलियों' की गिरफ्तारी और उसके परिणामों पर भी चर्चा होगी। इस मौके पर चुनावी राज्य अमित शाह को अपनी रिपोर्ट सौंपेंगे। 
 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Join Our Whatsapp Group