दिल्ली में अखिलेश यादव ने भरी हुंकार, बोले- 2019 में यूपी दिखाएगा देश को राह

नई दिल्ली            
समाजवादी पार्टी की ‘सामाजिक न्याय व लोकतंत्र बचाओ’ का रविवार को दिल्ली के जंतर मंतर आकर समापन हो गया. बीते 27 अगस्त को गाजीपुर से शुरू हुई इस यात्रा के दौरान पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं ने दिल्ली तक साइकिल का सफर तय किया. इस मौके पर पार्टी के संस्थापक और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने 2019 चुनाव के लिए हुंकार भरी.

शिवपाल यादव के सेकुलर मोर्चा की टिकट पर चुनाव लड़ने के कयासों के बीच मुलायम सिंह ने यह साफ कर दिया कि वह समाजवादी पार्टी और अपने बेटे अखिलेश के ही साथ हैं. उन्होंने युवाओं के इस कार्यक्रम में न सिर्फ शिरकत की बल्कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र भी दिया. अखिलेश ने भी कार्यकर्ताओं और पार्टी की ओर से मुलायम सिंह का आभार जताया.

बूढ़ी नहीं होगी सपा

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि आज के दौरे में दिल्ली से लेकर लखनऊ तक सत्ताधारी नेता पैसा कमाने और जमीन की लूट में लगे हैं. उन्होंने युवाओं से कहा कि अब समाजवादी पार्टी कभी बूढ़ी नहीं होगा क्योंकि आप लोग इतनी बड़ी तादाद में यहां जमा हुए हैं.

मुलायम सिंह ने कहा कि पार्टी में महिलाओं को आगे लाने की जरूरत है ताकि घर-घर तक जनाधार बढ़ाया जा सके. उन्होंने कहा कि आज देश का किसान, मजदूर, गरीब परेशान है, बीजेपी ने 15 लाख देने का झांसा देकर जनता के वोट ले लिया लेकिन पैसा आज तक नहीं दिया, कम से कम 3-3 लाख मुआवजा राशि ही दे देते. उन्होंने कहा कि युवा कार्यकर्ता सपा को मजबूत करें ताकि 2019 में दिल्ली में हमारे बगैर सरकार नहीं बन पाए और ऐसा पहले 2 बार हो भी चुका है.  

यूपी ने दिखाई देश को राह

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम और पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी ने हमेशा से देश को रास्ता दिखाया है और 2019 में भी पार्टी यही काम करेगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जो वादे किए थे उनका क्या हुआ? यूपी से जो (नरेंद्र मोदी) चुनाव लड़े थे उन्होंने कालाधन और नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म करने की बात कही थी, लेकिन जमीन पर कुछ हुआ नहीं. नोटबंदी और जीएसटी से नौकरियां खत्म हो गईं. किसानों की आत्महत्या रुकी नहीं, किसान खेती छोड़ मजदूरी करने पर मजबूर हैं. लेकिन जब सवाल पूछो तो कहते हैं कि नाली के पाइस से गैस जलाकर कर पकौड़े बना लो.

अखिलेश ने कहा कि हमेशा समाजवादियों पर भेदवाभ के झूठे आरोप लगते रहते हैं लेकिन आज यूपी के थानों में जाति पूछकर कार्रवाई की जाती है. यही नहीं संस्थाओं में खास जाति के लोग भरे जा रहे हैं और इलाज तक जाति पूछकर किया जा रहा है. हमारे मुख्यमंत्री कहते हैं कि किसान गन्ना कम उगाएं क्योंकि इससे शुगर की बीमारी होती है, वो कहते हैं कि हनुमान चालीस पढ़कर बंदर भगाएं, लेकिन अब सपा के युवा ने साइकिल उठा ली है, कौन भागेगा ये जल्दी पता चल जाएगा.

बता दें कि सपा कार्यकर्ताओं ने इस साइकिल यात्रा के जरिए कस्बों व गांव में स्थान-स्थान पर ठहरकर वहां के निवासियों से भेंटकर सपा की नीतियों, कार्यक्रमों और अखिलेश सरकार के समय अमल में लाई गईं बड़ी-बड़ी योजनाओं और कार्यों के बारे में लोग को अवगत कराया है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Join Our Whatsapp Group