सियासी संकट के बाद अशोक गहलोत-राहुल गांधी का पहली बार आमना-सामना

जयपुर
  राजस्थान में सियासी संकट के बाद पहली बार राहुल गांधी और अशोक गहलोत का आमना-सामना होगा। सीएम गहलोत राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के तहत बेल्लारी में आयोजित जनसभा में शामिल होंगे। सीएम अशोक गहलोत जयपुर से विशेष विमान से 9 बजे रवाना होंगे। सीएम करीब 11 बजे पहुंचेंगे। बेल्लारी में 1.30 बजे सभा प्रस्तावित है। माना जा रहा है कि सीएम अशोक गहलोत राहुल गांधी को भी माफीनामा पेश कर सकते हैं।

गहलोत सोनिया गांधी से मांग चुके हैं माफी
राजस्थान में विधायक दल की बैठक के बहिष्कार के बाद अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता राहुल गांधी का पहली बार आमना-सामना होगा। बता दें बेल्लारी लोकसभा सीट कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। सोनिया गांधी बेल्लारी से लोकसभा का चुनाव जीत चुकी है। भारत जोड़ो यात्रा में इससे पहले सीएम गहलोत 22 सितंबर को कोच्चि पहुंचे थे। जहां राहुल गांधी से अध्यक्ष पद संभालने का आग्रह किया था। अगले ही दिन राहुल गांधी ने यह स्पष्ट कर दिया था कि गांधी परिवार का कोई व्यक्ति अध्यक्ष पद नहीं बनेगा। तब सीएम गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करने के लिए राजी हो गए थे। हालांकि, बाद में गहलोत समर्थक विधायकों ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक का बहिष्कार कर दिया। इसके बाद सीएम गहलोत ने कांग्रेस अध्यक्ष बनने से इंकार कर दिया।

सीएम अशोक गहलोत ने 25 सितंबर के सियासी घटनाक्रम पर सोनिया गांधी से माफी मांग ली थी। लेकिन राहुल गांधी से पहली बार उनका आमना-सामना होगा। सीएम अशोक गहलोत जयपुर से विशेष विमान से 9 बजे रवाना होंगे। सीएम करीब 11 बजे पहुंचेंगे। बेल्लारी में 1.30 बजे सभा प्रस्तावित है। माना जा रहा है कि सीएम अशोक गहलोत राहुल गांधी को भी माफीनामा पेश कर सकते हैं।

गहलोत समर्थक मंत्रियों पर लटकी है तलवार
सियासी घटनाक्रम पर सीएम गहलोत ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मिलने के बाद मीडिया से कहा कि उनके राजनीतिक जीवन में ऐसा कभी नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक के अहम किरदार माने जाने वाले गहलोत समर्थक मंत्री शांति धारीवाल और महेश जोशी ने भी कांग्रेस अध्यक्ष से माफी मांग ली है। चर्चा है कि इन विधायकों को माफी मिल सकती है। तीनों नेताओं ने कांग्रेस आलाकमान को ई मेल से नोटिस का जवाब भी भेज दिया था। धारीवाल और जोशी पर फिलहाल तलवार लटकी है। कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के बाद ही इन नेताओं पर कोई निर्णय लिया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button