Assembly Election Result 2022: भगवा रंग में नहाया UP, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर

Assembly Election Result 2022: उत्तर प्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड समेत 5 राज्यों में वोटों की गिनती जारी है। भाजपा पंजाब को छोड़कर बाकी राज्यों में सरकार बनाने की ओर अग्रसर है। वहीं, पंजाब में आम आदमी पार्टी बंपर जीत के साथ सरकार बना रही है। पांचों राज्यों की मतगणना में चौंकाने वाले परिणाम सामने आ रहे हैं। राजनीतिक दलों के दिग्गज अपनी सीट हार रहे हैं। यूपी में एक बार फिर ऐतिहासिक जीत के साथ योगी राज वापस लौट रहा है। सपा को हालांकि 2017 के मुकाबले काफी ज्यादा सीटें मिली हैं लेकिन सरकार बनाने का सपना एक बार फिर धराशायी होता जा रहा है।

उत्तराखंड की बात करें तो कांग्रेस के सीएम फेस हरीश रावत चुनाव हार गए हैं। उधर, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कांग्रेस प्रतिद्वंदी भुवन चंद्र कापड़ी से चुनाव हार गए हैं। हालांकि रूझानों के मुताबिक यहां भाजपा एक बार फिर सत्ता रिपीट कर रही है।

पांच राज्यों के मुख्यमंत्रियों का हाल

पांच राज्यों के चुनाव नतीजे आ रहे हैं और बड़े-बड़े नेताओं को हार का सामना करना पड़ रहा है. पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी अपनी दोनों सीटों पर हार गए हैं. जबकि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की भी हार हुई है. अगर अन्य तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बात करें तो मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह की जीत हुई है, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी जीत गए हैं. वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी गोरखपुर शहर सीट जीतने की ओर अग्रसर हैं.

पंजाब में बड़ा उलटफेर करते हुए आम आदमी पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बना रही है। आप के सीएम फेस भगवंत मान धुरी विधानसभा सीट से जीत चुके हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी की बुरी दशा जारी है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी दोनों सीटों से चुनाव हार गए हैं। वहीं, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी अपनी सीट हार गए हैं। उन्हें आप कैंडिडेट जीवनजोत कौर ने हरा दिया है। अकाली परिवार भी इस चुनाव में बुरी हार का सामना कर रही है। पार्टी के दोनों दिग्गज प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल अपनी सीटें हार गए हैं। यहां कैप्टन अमरिंदर सिंह भी पटियाल सीट से चुनाव हार गए हैं।

शुरुआती रुझान में यूपी, उत्तराखंड और गोवा में भाजपा आगे है। उत्तर प्रदेश की 403, पंजाब की 117, उत्तराखंड की 70, गोवा की 40 और मणिपुर की 60 विधानसभा सीटों पर मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गए थे। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा सात चरणों में मतदान कराए गए।

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए वोटों की गिनती जारी है. रुझानों में बीजेपी ने बहुमत हासिल कर लिया है. हालांकि, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी खटीमा सीट से पीछे चल रहे हैं. वे इस सीट से 2 बार के विधायक हैं. वहीं, कांग्रेस के सीएम चेहरा हरीश रावत भी लाल कुआं सीट से पीछे चल रहे हैं. हरीश रावत ने ट्वीट कर कहा, लालकुआं विधानसभा क्षेत्र से मेरी चुनावी पराजय की औपचारिक घोषणा ही बाकी है. मैं लालकुआं क्षेत्र के लोगों से क्षमा चाहता हूं कि मैं उनका विश्वास अर्जित नहीं कर पाया और जो चुनावी वादे उनसे मैंने किए. उनको पूरा करने का मैंने अवसर गवा दिया है.

बीजेपी ने तोड़ा 20 साल पुराना ट्रेंड

उत्तराखंड में अभी तक जनता हर 5 साल में सरकार बदल देती थी. यही वजह है कि यहां अभी तक 2002 में राज्य बनने के बाद से चार बार विधानसभा चुनाव हुए हैं. हर बार अलग सरकार बनी है. 2002 में यहां कांग्रेस ने सरकार बनाई थी. वहीं, 2007 में बीजेपी, 2012 में कांग्रेस और 2017 में बीजेपी ने सरकार बनाई. लेकिन अब तक के नतीजों में बीजेपी ये ट्रेंड तोड़ती नजर आ रही है.

जीत के बाद अरविंद केजरीवाल का संबोधन

पंजाब में मिली जीत पर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में इंकलाब आया है, आज बड़ी-बड़ी कुर्सियां हिल गई हैं. जितने भी बड़े नाम थे, सब हार गए हैं. हमने ईमानदार राजनीति की शुरुआत की और पूरे सिस्टम को बदल दिया. अरविंद केजरीवाल बोले कि हमने बच्चों को शिक्षा देने का काम किया है.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सभी पार्टियों ने हमारे खिलाफ साजिशें रचीं, जब ये सफल नहीं हुए तो इन्होंने केजरीवाल को आतंकवादी कह दिया था. आज देश की जनता ने बोल दिया कि केजरीवाल आतंकवादी नहीं, देश का सच्चा सपूत है. हम एक ऐसा भारत बनाएंगे, जहां पर सभी के बच्चों को शिक्षा मिलेगी.

आज हमारे बच्चों को मेडिकल की शिक्षा लेने के लिए यूक्रेन में जाना पड़ता है, लेकिन हम ऐसा भारत बनाएंगे जहां बच्चों को यहां पर ही शिक्षा मिले. अरविंद केजरीवाल बोले कि दिल्ली-पंजाब का इंकलाब पूरे देश में फैलेगा. सारे महिलाएं, युवा और किसान आम आदमी पार्टी ज्वाइन करें. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चरणजीत सिंह चन्नी को मोबाइल रिपेयर की दुकान पर काम करने वाले शख्स ने हराया है. लोगों ने विश्वास जताया है, हमें इतना बहुमत मिला है जिससे डर भी लगता है. लेकिन अगर कोई आपको गाली दे, तो हमें उसे स्वीकार करना और सेवा की राजनीति करनी है.

कभी नवजोत सिद्धू के शो में कॉमेडी करते थे भगवंत मान, अब हार पर उड़ रहा 'गुरू' का मजाक
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना के बीच कई नेताओं की साख दांव पर लगी है तो कइयों की बाजी पलटती दिख रही है। पंजाब में आम आदमी पार्टी चमत्कारिक प्रदर्शन की ओर है। इसी के चलते कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू अपनी ही सीट पर हारते दिख रहे हैं तो वहीं सीएम चरणजीत सिंह चन्नी भी पीछे चल रहे हैं। इसके उलट आम आदमी पार्टी सीएम कैंडिडेट भगवंत मान आगे हैं और वे पंजाब के अगले मुख्यमंत्री बनने की ओर अग्रसर दिख रहे हैं।

Related Articles

Back to top button