पंचायत चुनाव से परिवारवाद की बैकडोर एंट्री, भाजपा नेताओं ने निकाला गाइडलाइन का तोड़

भोपाल
परिवारवाद के नाम पर मेयर, पार्षद, विधायक का टिकट न मिलने का फैसला सामने के बाद भाजपा नेताओं के परिजनों ने राजनीति में एंट्री का तरीका बदल दिया है। इन नेताओं ने जिला व जनपद सदस्य, सरपंच के पदों के लिए नामांकन दाखिल कर राजनीति में एंट्री की नई राह तय करने का फैसला किया है। कई नेताओं के परिजन जिला पंचायत अध्यक्ष तो कुछ के जनपद अध्यक्ष की कुर्सी पाने के लिए जोर आजमाईश कर रहे हैं। पंचायत चुनाव लड़ने वालों में विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम का बेटा, बेटी, भतीजा भी शामिल हैं। इसके साथ ही मंत्रियों, विधायकों, पूर्व विधायकों और संगठन से जिला व प्रदेश पदाधिकारियों के परिजन भी चुनावी दांव आजमा रहे हैं।

दस जून को नाम वापसी का अंतिम दिन है। गैरदलीय आधार पर हो रहे चुनाव में भाजपा संगठन को कुछ जिला व जनपद पंचायत सदस्यों के वार्ड में नेताओं को मनाने की मशक्कत करनी पड़ रही है। इसकी वजह एक ही वार्ड से कई भाजपा नेताओं के परिजनों का चुनाव लड़ना है।

चर्चा में पूर्व सीएम, पूर्व गवर्नर की बहू
 पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती की बहू टीकमगढ़ से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ रही हैं। उमा भारती के भतीजे और खरगापुर बीजेपी विधायक राहुल सिंह लोधी की पत्नी उमिता सिंह ने जिला पंचायत के वार्ड नंबर 8 से नामांकन दाखिल किया है। पूर्व राज्यपाल रामनरेश यादव की पौत्रवधु रोशनी यादव निवाड़ी जिले के वार्ड नंबर 6 से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ रही हैं। रोशनी वर्तमान में भाजपा की जिला उपाध्यक्ष हैं। उनके सामने विधायक प्रतिनिधि संदीप यादव की मां भी चुनाव लड़ रही हैं।

इन मंत्रियों और पूर्व मंत्रियों के परिजन उतरे चुनाव मैदान में
जिन मंत्रियों के परिजन चुनाव लड़ रहे हैं, उनमें वन मंत्री विजय शाह के बेटे दिव्यदित्य के अलावा बड़वानी में जिला पंचायत सदस्य के लिए वार्ड 2 से मंत्री प्रेम सिंह के बेटे बलवंत सिंह पटेल का नाम शामिल है। जनपद पंचायत खंडवा के वार्ड 6 से पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर ने नामांकन भरा है। तोमर राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त हैं।  
जबकि पूर्व मंत्रियों में अंतर सिंह आर्य की बहू कविता विकास आर्य, पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया की बहू ममता रानी ने दमोह जिले की ग्राम पंचायत सकोर से सरपंच पद के लिए आवेदन भरा है। पूर्व मंत्री स्व. जुगल किशोर बागरी के बेटे पुष्पराज बागरी ने सतना जिला पंचायत सदस्य के लिए वार्ड नंबर 1 से पर्चा दाखिल किया है। उनके छोटे भाई देवराज की पत्नी वंदना बागरी ने जिला पंचायत के लिए एक और दो नंबर वार्ड से पर्चा दाखिल किया है।

पूर्व सांसद और MLA भी पीछे नहीं
भाजपा से पूर्व सांसद चंद्रभान सिंह सोलंकी की पत्नी जानकी सिंह, बेटी नीतू सिंह, बहू काजल कृष्णा सिंह ने जिपं सदस्य के लिए नामांकन जमा किया है। चांचौड़ा से पूर्व बीजेपी एमएलए ममता मीणा गुना जिला पंचायत के वार्ड 14 और उनके रिटायर आईपीएस पति रघुवीर सिंह मीणा ने गुना जिला पंचायत के वार्ड नंबर 16 से नामांकन दाखिल किया है। बीजेपी से बरगी से पूर्व विधायक प्रतिभा सिंह की जेठानी विद्या सिंह ने जिला पंचायत सदस्य के लिए पर्चा भरा है।

स्पीकर समेत इन विधायकों के परिजन लड़ रहे इलेक्शन
रीवा में जिला पंचायत सदस्य पद के लिए विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम के पुत्र व बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष राहुल गौतम और सगे भतीजे पद्मेश गौतम आमने -सामने हैं। पद्मेश कांग्रेस से जुड़े हैं। इस कारण जिला पंचायत के वार्ड 27 का चुनाव दिलचस्प है। स्पीकर गौतम की बेटी रुचि भी देवतलाब क्षेत्र की जनपद नईगढ़ी से चुनाव लड़ रही हैं। निवाड़ी के बीजेपी विधायक अनिल जैन की पत्नी निरंजना जैन निवाड़ी जनपद पंचायत के वार्ड नंबर 5 से सदस्य पद की उम्मीदवार हैं। टीकमगढ़ से भाजपा विधायक राकेश गिरी की दो बहन कामिनी गिरी वर्तमान में टीकमगढ़ जनपद पंचायत की अध्यक्ष हैं। कामिनी दूसरी बार जनपद पंचायत के टीकमगढ़ वार्ड 22 से उम्मीदवार हैं तो दूसरी बहन रानी गिरी ने भी वार्ड 13 से नामांकन दाखिल किया है। सिहोरा से बीजेपी विधायक नंदनी मरावी की समधन सावित्री बेंद्रे भी जिला पंचायत सदस्य के लिए चुनाव मैदान में हैं। इनके अलावा नंदनी मरावी की ननद के बेटे पूरन सिंह मरावी ने भी जनपद सदस्य के चुनाव के लिए नामांकन फार्म जमा कराया है।

Related Articles

Back to top button