भाजपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट, येदियुरप्पा के बेटे को नहीं मिली जगह

बेंगलूरु
भाजपा ने कर्नाटक में होने जा रहे द्विवार्षिक विधान परिषद चुनाव के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। राज्य के पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र को लिस्ट में जगह नहीं मिली है। कहा जा रहा था कि येदियुरप्पा अपने बेटे को एमएलसी चुने जाने के बाद एक प्रमुख कैबिनेट पद पर नियुक्त करना चाहते थे।

कर्नाटक में 3 जून को होगा विधान परिषद का चुनाव
कर्नाटक में विधान परिषद का चुनाव तीन जून को होगा। यह चुनाव इसलिए जरूरी हो गया था क्योंकि सात सदस्यों का कार्यकाल 14 जून को समाप्त होने जा रहा है। बता दें कि एमएलसी चुनाव के लिए नामाकंन दाखिल करने की अंतिम तारीख है। आपको बता दें कि कर्नाटक विधान मंडल में कुल 75 सीटें हैं। इनमें भाजपा के 37 सदस्य हैं, जबकि कांग्रेस के 26 और जेडीएस के 10 सदस्य हैं।

बेटे को कैबिनेट मंत्री बनाने चाहते हैं येदियुरप्पा!
दरअसल, येदियुरप्पा अपने बेटे को एमएलसी चुने जाने के बाद एक प्रमुख कैबिनेट पद पर नियुक्त करना चाहते हैं। वह यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनका बेटा आगामी विधानसभा चुनावों में एक प्रमुख भूमिका निभाए। भाजपा को डर है कि येदियुरप्पा एक बार फिर अपने बेटे के जरिए पार्टी को हाईजैक कर लेंगे। लेकिन पार्टी ने पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा के बेटे विजयेंद्र को द्विवार्षिक विधान परिषद चुनाव के लिए जारी की गई उम्मीदवारों की लिस्ट में जगह नहीं दी है, जो पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

कांग्रेस पार्टी में मचा घमासान
वहीं, विधान परिषद चुनाव से पहले कर्नाटक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार और पूर्व सीएम सिद्धारमैया खुलकर सामने आ गए हैं। पार्टी सूत्रों ने कहा कि दोनों ने अपने-अपने उम्मीदवारों की सूची आलाकमान को भेज दी है। जिसके चलते राज्य में पार्टी के अंदर खींचतान की बात सामने आ रही है।

 

Related Articles

Back to top button