भाजपा को गुजरात में मिलेगा पाटीदारों का खुला साथ! नरेश पटेल ने पीएम मोदी से की मुलाकात

नई दिल्ली अहमदाबाद
पाटीदार नेता और श्री खोडलधाम न्यास के अध्यक्ष नरेश पटेल ने शनिवार को दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। यह बैठक गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले हुई है, जिसकी घोषणा जल्द होने की संभावना है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल ने कहा कि इस बैठक से आगामी चुनावों में पार्टी की संभावनाएं और बेहतर होंगी। बैठक के दौरान पटेल के साथ मौजूद खोडलधाम न्यास के न्यासी रमेश तिलारा ने कहा कि उन्होंने मोदी से 'सद्भावना मुलाकात' की। तिलारा ने कहा कि प्रधानमंत्री को खोडलधाम न्यास का दौरा करने के लिए भी आमंत्रित किया गया, लेकिन उन्होंने अभी तारीख की पुष्टि नहीं की है।

पटेल समुदाय की संरक्षक देवी हैं माता खोडियार
बैठक के बारे में पूछे जाने पर सी आर पाटिल ने संवाददाताओं से कहा, 'भाजपा कार्यकर्ता खुद बहुत मजबूत हैं। लेकिन अगर खोडलधाम न्यास जैसे महत्वपूर्ण सामाजिक और धार्मिक संस्थान के प्रमुख ने आज प्रधानमंत्री से मुलाकात की है, तो मेरा मानना है कि आगामी चुनाव के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा निर्धारित लक्ष्य हासिल हो जाएगा।' प्रमुख सामाजिक-धार्मिक संस्था श्री खोडलधाम न्यास राजकोट जिले के कागवड में माता खोडियार के मंदिर का प्रबंधन करता है। माता खोडियार लेउवा पटेल समुदाय की संरक्षक देवी हैं।

गुजरात में काफी अहम है पाटीदार समुदाय
माना जाता है कि पटेल का गुजरात में संख्यात्मक रूप से महत्वपूर्ण पाटीदार समुदाय में काफी प्रभाव है। हालांकि, पटेल ने अब तक राजनीति से दूरी बनाए रखी है। राजनीति में संभावित प्रवेश के बारे में महीनों की अटकलों के बाद नरेश पटेल ने इस साल जून में घोषणा की थी कि वह किसी भी राजनीतिक दल में शामिल नहीं होंगे। विपक्षी दल कांग्रेस ने भी उस समुदाय का समर्थन हासिल करने की कोशिश में पटेल को लुभाने की कोशिश की थी, जो सौराष्ट्र क्षेत्र में उसके लिए महत्वपूर्ण है। पटेल को आखिरी बार 28 सितंबर को कांग्रेस की रैली के दौरान खोडलधाम मंदिर में पार्टी के प्रदेश प्रमुख जगदीश ठाकोर, सांसद शक्तिसिंह गोहिल और पार्टी के अन्य नेताओं से मिलते देखा गया था।

 

Related Articles

Back to top button