लोकसभा चुनाव लेकर CM नीतीश 5-7 सितंबर तक विपक्षी नेताओं से मिलेंगे

 पटना

 लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर विपक्षी दलों की सरगर्मी तेज हो गई है। हाल ही में एनडीए छोड़कर महागठबंधन के साथ बिहार में सरकार बनाने वाले नीतीश कुमार आम चुनाव 2024 से पहले विपक्षी दलों की एकजुटता के लिए खासे सक्रिय दिखाई पड़ रहे हैं। तेलंगाना सीएम केसीआर से पटना में हुई मुलाकात के बाद अब नीतीश कुमार 5-7 सितंबर के बीच दिल्ली में विपक्षी नेताओं से मिलने वाले हैं। इस बात की जानकारी पटना में आयोजित जदयू कार्यकारिणी बैठक के बाद दी गई।

बताया गया कि नीतीश कुमार 5 से 7 सितबंर तक विपक्ष के नेताओं से दिल्ली में मिलेंगे। नीतीश कुमार सोनिया गांधी, राहुल गांधी और ओम प्रकाश चौटाला से मिलेंगे। पटना में आज हुई जदयू कार्यकारिणी की बैठक के बाद नीतीश ने कहा कि देश की जनता सब देख रही है। देश में लोकतंत्र को खत्म किया जा रहा है। 2024 के परिणाम में जनता बताने का काम करेगी। उन्होंने साफ कहा कि नीतीश ने कहा कि सभी विरोधी दल अगर एकजुट हो जाएंगे तो 2024 का परिणाम कुछ और होगा।

मणिपुर में जदयू के पांच विधायकों के भाजपा में शामिल होने पर बोले सीएम

मणिपुर में जदयू के पांच विधायकों के भाजपा में शामिल होने की घटना पर नीतीश कुमार ने कहा कि एक नए ढंग का काम किया जा रहा है। कुछ दिन पहले सभी विधायक बिहार आए थे, पता चला था कि सभी को बीजेपी में शामिल करा रहे हैं। क्या यह संवैधानिक काम है, आप बताइए। नीतीश ने यह भी कहा कि बिहार में एनडीए से नाता तोड़ने के बाद मणिपुर के सभी विधायक बिहार आए थे। तब उन्होंने भाजपा का साथ छोड़ने पर सहमति भी जताई थी। अब उन्हें भाजपा में शामिल कराया गया है। यह एक नए तरीके का काम है। इससे कुछ होने जाने वाला नहीं है।

मंत्री बोले- मणिपुर में हमारे विधायक टूटे है, वोट बैंक नहीं टूटा

इधर पटना में जदयू की राज्य कार्यकारिणी की बैठक खत्म हो गई। बैठक 3 घंटे चली। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष भी बैठक में मौजूद थे। बैठक से पहले मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हमारे विधायकों को उस वक्त भी तोड़ लिया था, जब हम उनके साथ थे। अब तो हम खिलाफ हैं, तब तोड़ दिया तो क्या बड़ी बात है। चौधरी ने कहा कि मणिपुर में हमारे विधायक टूटे हैं। लेकिन वहां हमारा वोट बैंक नहीं टूटा। जनता सब देख रही है।

बैठक में संगठन को मजबूत करने की दिया गया बल

इधर आज पटना में हुई जदयू की कार्यकारिणी की बैठक में संगठन को मजबूत करने पर चर्चा की गई। सभी नेताओं ने राज्य में संगठन को और मजबूत करने पर बल दिया। साथ ही बिहार में महागठबंधन सरकार बनने के बाद जनता दल यूनाइटेड अपने संगठन पर फोकस कर रही है।

इसी को लेकर पटना में प्रदेश व राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक आयोजित की गई है। इसमें मुख्य रूप से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, संसदीय बोर्ड के चेयरमैन उपेंद्र कुशवाहा सहित राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सभी सदस्य और राष्ट्रीय परिषद के सभी सदस्य शामिल हुए हैं।

जदयू के संगठन का चुनाव नए सिरे से होगा

बैठक में बताया गया कि जदयू के संगठन का चुनाव पंचायत स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक आयोजित किया जाएगा। इसमें विधानसभा अध्यक्ष से लेकर जिला अध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय अध्यक्ष सभी शामिल हैं। सभी का चुनाव नए सिरे से आयोजित किया जाएगा। बैठक से पहले जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि जदयू कार्यालय में बड़ी बैठक चलेगी। विभिन्न राज्यों से आए जदयू के नेता बैठक में उनके रहने खाने और बैठक की क्या कुछ तैयारी हुई है इन सभी के बारे में मुख्यमंत्री ने जानकारी ली।

Related Articles

Back to top button