गहलोत बोले- गौतम हों, अंबानी हों या जय शाह, सबका स्वागत

जयपुर
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार सभी उद्योगपतियों का स्वागत करेगी, फिर चाहे वह अडानी हों, अंबानी हों या फिर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह, क्योंकि राज्य में रोजगार और निवेश की आवश्यकता है। गहलोत ने शनिवार को ‘इन्वेस्ट राजस्थान सम्मेलन’ के दूसरे दिन संवाददाताओं से बातचीत में कहा, 'चाहे अडानी हों, अंबानी हों या फिर अमित शाह के बेटे जय शाह, हम सभी का स्वागत करेंगे। हम रोजगार और निवेश चाहते हैं।' मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को गौतम अडानी को लेकर एक मुद्दा बनाया, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा, 'मैं इसकी निंदा करता हूं। इसे मुद्दा बनाना भाजपा को महंगा पड़ेगा।'

CM गहलोत ने की अडानी की तारीफ
‘इन्वेस्ट राजस्थान सम्मेलन’ के उद्घाटन समारोह के दौरान गहलोत द्वारा उद्वोगपति गौतम अडानी की तारीफ करने के बाद शुक्रवार को भाजपा ने कांग्रेस पर तंज कसा था। अडानी उन उद्योगपतियों में शामिल हैं, जिनके नाम का जिक्र राहुल गांधी अक्सर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर केवल बड़े उद्योगपतियों की मदद करने का आरोप लगाते समय करते हैं।

बता दें कि एशिया के सबसे अमीर गौतम अडानी ने शुक्रवार को निवेश राजस्थान समिट 2022 के उद्घाटन समारोह में भाग लिया और गहलोत के समक्ष उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। वह मंच पर गहलोत के बगल में बैठे थे। न केवल गहलोत ने अडानी की प्रशंसा की बल्कि अडानी ने भी गहलोत की योजनाओं और दूरदर्शिता की प्रशंसा की। अडानी ने अगले पांच से सात वर्षों में राज्य में 10,000 मेगावाट की सौर ऊर्जा सुविधा की स्थापना, सीमेंट संयंत्र का विस्तार और जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के उन्नयन के लिए राज्य में 65,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है।
    
गहलोत ने अडानी को कहा ‘गौतम भाई’
गहलोत ने अपने संबोधन में उद्योगपति गौतम अडानी को गौतम भाई के रूप में संबोधित किया और उन्हें दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बनने के लिए बधाई दी। जब गहलोत ने अडानी की प्रशंसा की तब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने उद्योगपति का नाम लिए बिना एक ट्वीट किया जिसमें कहा गया था कि केंद्र 'पूंजीवादी मित्रों' के कई करोड़ रुपये का ऋण माफ कर रहा है जबकि अन्य लोग कर्ज का जीवन में जी रहे हैं।
    
उन्होंने अपनी भारत जोड़ो यात्रा में एक घटना को याद करते हुए ट्वीट किया, 'कल मैं एक महिला से मिला उनके किसान पति ने 50,000 के कर्ज़ के कारण आत्महत्या कर ली। एक भारत: पूंजीपति मित्रों को 6 प्रतिशत ब्याज पर कर्ज़ और करोड़ों की कर्ज़माफ़ी। दूसरा, भारत: अन्नदाताओं को 24 प्रतिशत ब्याज पर कर्ज़ और कष्टों से भरी ज़िंदगी एक देश में ये 'दो भारत', हम स्वीकार नहीं करेंगे।'
    
सतीश पूनिया ने शेयर किया वीडियो
कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने 47 सेकंड की एक क्लिप साझा की जिसमें राहुल गांधी ने संसद में अडानी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर हमला किया। उन्होंने कहा कि जहां राहुल गांधी केंद्र पर अडानी और अंबानी का पक्ष लेने का आरोप लगाते हैं वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री इन दोनों दिग्गजों कारोबारियों के पक्षधर हैं। उन्होंने क्लिप के साथ ट्वीट में कहा, 'कल तक जो था विरोधी, आज बना मनमीत, धन की जगी उम्मीद तो बदली अपनी रीत।'

कांग्रेस आलाकमान के मुंह पर करारा तमाचा: देवनानी
भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री वासुदेव देवनानी ने उद्घाटन समारोह में अडाणी के साथ बैठे गहलोत की एक तस्वीर साझा करते हुए कहा कि यह कांग्रेस आलाकमान के चेहरे पर एक करारा तमाचा है। एक अन्य ट्वीट में देवनानी ने एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें गहलोत अडानी को दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बनने पर बधाई दे रहे हैं। उन्होंने ट्वीट में कहा, 'कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी जी जिस अडानी समूह को पानी पी-पी कर कोसते रहते हैं, आज निवेश राजस्थान समिट में उन्हीं के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी की यह दुर्लभ तस्वीर कांग्रेस आलाकमान के मुंह पर करारा तमाचा है।'

राहुल को गहलोत का खुला संदेश: अमित मालवीय
भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय कांग्रेस पर निशाना साधते लिखा, 'गांधी परिवार के खिलाफ विद्रोह और असंतोष के एक और संकेत। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गौतम अडानी को इन्वेस्ट शिखर सम्मेलन के लिए सम्मान के साथ आमंत्रित किया। उन्हें मुख्यमंत्री के ठीक बगल में सीट दी गई है। यह राहुल गांधी के लिए एक खुला संदेश है, जो अडानी-अंबानी को सुबह-शाम कोसते नहीं थकते।'

Related Articles

Back to top button