पीएम मोदी से मुलाकात में शरद पवार उठाया संजय राउत पर हुई कार्रवाई का मुद्दा

 नई दिल्ली

 

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि शिवसेना के राज्यसभा सासंद संजय राउत की संपत्ति को कुर्क करना उनके साथ अन्याय है. शरद पवार ने बुधवार को संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय में उनसे मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच करीब 20 मिनट बातचीत हुई. मुलाकात के बाद शरद पवार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ये बातें कही.

दोनों नेताओं की बातचीत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से कुछ भूमि सौदों से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जांच में शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी और उनके एक सहयोगी की 11.15 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क करने के एक दिन बाद हुई है.

शरद पवार ने कहा कि मैंने पीएम मोदी से शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत से जुड़े मामले में बातचीत की है. पवार ने कहा कि संजय राउत राज्यसभा सदस्य हैं. मैंने कहा है कि जिस तरह से संजय राउत की संपत्ति कुर्क की गई है वह अन्याय है. वे न केवल राज्यसभा के सदस्य हैं बल्कि पत्रकार भी हैं.

पवार ने कहा कि मैंने पीएम मोदी से कहा कि संजय राउत के खिलाफ कार्रवाई की क्या जरूरत थी? सिर्फ इसलिए कि कभी-कभी वह लिखता और आलोचना करता है? शरद पवार ने कहा कि ममता बनर्जी ने मुझे लिखा है और कहा है कि हमें गैर-भाजपा नेताओं से संपर्क करना चाहिए और भविष्य की कार्रवाई का मसौदा तैयार करना चाहिए. मैं जल्द ही नेताओं तक पहुंचना शुरू करूंगा.

एक दिन पहले ईडी ने की थी संपत्ति कुर्क

बता दें कि मंगलवार को एक हजार करोड़ रुपए के चॉल लैंड स्कैम में शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी, संजय राउत के करीबी प्रवीण राउत से जुड़ी करोड़ों की संपत्ति को प्रवर्तन निदेशालय ने कुर्क कर दिया. कुल संपत्ति 11 करोड़ रुपए की बताई जा रही है. इसमें पालघर में प्रवीण राउत से जुड़ी संपत्ति करीब 9 करोड़ की है. जबकि 2 करोड़ की कीमत वाले दादर में फ्लैट और अलीबाग में प्लॉट के संजय राउत की पत्नी से जुड़े होने का आरोप है.

संजय राउत भले इनकार करें लेकिन ईडी की जांच के मुताबिक आरोप है कि संजय राउत के करीबी प्रवीण राउत को 100 करोड़ रुपए HDIL से मिले थे. जिसमें से प्रवीण राउत ने 1 करोड़ 60 लाख रुपए अपनी पत्नी माधुरी को ट्रांसफर किए.
प्रधानमंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया

शरद पवार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, “मैं संजय राउत की संपत्तियों को कुर्क करने के मामले को प्रधानमंत्री के संज्ञान में लाया. अगर कोई केंद्रीय एजेंसी इस तरह का कदम उठाती है, तो उन्हें इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी. उनके खिलाफ यह कार्रवाई हुई क्योंकि वह सरकार के खिलाफ बोलते हैं?” शरद पवार ने कहा, “प्रधानमंत्री ने कोई जवाब नहीं दिया. मैंने उम्मीद भी नहीं की थी कि वो कोई जवाब देंगे. बस मैंने अपनी बात रख दी है.”

ईडी ने संजय राउत की पत्नी की संपत्ति को कुर्क किया है

प्रवर्तन निदेशालय ने कुछ भूमि सौदों से जुड़ी धन शोधन जांच के तहत शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी और उनके दो सहयोगियों की 11.15 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति को अस्थायी रूप से कुर्क किया है. ईडी ने एक बयान में कहा कि कुर्क की गई संपत्तियां पालघर और ठाणे में भूखंड के रूप में हैं,  जिनपर गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व निदेशक प्रवीण एम राउत का कब्जा है. इसके अलावा मुंबई के दादर में संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत का एक फ्लैट है और अलीबाग के किहिम बीच पर आठ भूखंड हैं, जो वर्षा राउत और स्वप्ना पाटकर की संयुक्त मिल्कियत है. स्वप्ना पाटकर सुजीत पाटकर की पत्नी हैं. ईडी के मुताबिक, सुजीत पाटकर शिवसेना के राज्यसभा सदस्य और पार्टी प्रवक्ता संजय राउत के करीबी सहयोगी हैं.

Related Articles

Back to top button