जय श्रीराम के नारे लगे विस में , ममता बनर्जी ने कहा- अग्निपथ के जरिए अपने कैडर तैयार करने की कोशिश कर रही भाजपा

कोलकाता
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार की ओर से सेना में भर्ती के लिए घोषित नई योजना 'अग्निपथ' को भाजपा के लिए कैडर तैयार करने की कोशिश करार दिया। सोमवार को बंगाल विधानसभा (विस) के मानसून सत्र को संबोधित करते हुए ममता ने कहा-'अग्निपथ के जरिए भाजपा अपने कैडर तैयार करने की कोशिश कर रही है। इसके तहत आर्मी प्रशिक्षण नहीं बल्कि आर्म्स का प्रशिक्षण दिया जाएगा। बंदूक का लाइसेंस मिलने के बाद नौकरी चली जाएगी। दरअसल इसके जरिए भाजपा अपने गुंडे तैयार करना चाहती है। ये गुंडे वोट लूटने में उसकी मदद करेंगे। पार्टी आफिस में पहरा देंगे। गुंडे तैयार करने के लिए भाजपा चार साल का लालीपाप पकड़ा रही है।

मुख्यमंत्री ने आगे कहा-'इस योजना की सेना की तरफ से घोषणा नहीं की गई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसका एलान किया है। अब मुंह बचाने के लिए सेना को सामने लाया जा रहा है। हमने बंगाल की सत्ता में आने के बाद किसी की नौकरी नहीं छीनी बल्कि एक लाख लोगों को नौकरी दी है। इनमें 100 मामलों में गलती हो सकती है। हमें गलती सुधारने का मौका देना होगा। दरअसल ममता का इशारा शिक्षक नियुक्ति घोटाले की तरफ था। भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ टिप्पणी के बाद बंगाल के कुछ इलाकों में हुई हिंसक घटनाओं पर ममता ने प्रदर्शनकारियों से कहा-'आप भाजपा के उकसावे में न आएं। सड़कें अवरुद्ध न करें। हावड़ा, डोमकल व रेजीनगर, इन तीन जगहों पर कुछ लोगों के घरों में तोड़फोड़ की गई है। यह अन्याय है। मैं इसका समर्थन नहीं करती। पीड़ित परिवारों को मुआवजा दिया जाएगा। जो दोषी हैं, उन्हें गिरफ्तार किया जाना चाहिए। मैं पुलिस से इन मामले को देखने को कहूंगी।

विस में लगे 'जय श्रीराम' के नारे
मुख्यमंत्री जिस समय सदन में वक्तव्य रख रही थीं, उस समय नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी की अगुआई में भाजपा विधायकों ने सदन में 'जय श्रीराम' के नारे लगाने शुरू कर दिए और इसके बाद वाकआउट कर गए। बाद में मीडिया से बातचीत में सुवेंदु ने कहा कि मुख्यमंत्री सेना की निंदा कर रही हैं, जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button