मिशन-2023: बूथ की मजबूती पर विमर्श करने BJP के रणनीतिकार भोपाल में जुटे

भोपाल
बूथ मजबूती में जुटी बीजेपी 2023 के विधानसभा चुनाव के पहले पार्टी के हर कार्यकर्ता को कोई न कोई जिम्मेदारी सौंपने की तैयारी में है। इसके लिए पार्टी द्वारा ऐसे कार्यक्रम तय किए जाएंगे जिसमें कार्यकर्ता की भागीदारी साफतौर पर दिखाई दे। इसके साथ ही प्रदेश महामंत्रियों के कामकाज में और कसावट लाने की तैयारी है।

दो दिन तक चलने वाली पार्टी की विशेष बैठक में संगठन के वरिष्ठ नेताओं द्वारा पार्टी के मीडिया, सोशल मीडिया, आईटी विभाग और युवा मोर्चा के लिए भी नए दायित्व तय करने का काम किया जाएगा।  बैठक में 46 नगर परिषद, नगरपालिका में होने वाले चुनाव की तैयारियों को लेकर भी जिम्मेदारी तय की जा रही है।

बैठक से पहले प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि यह बैठक हमारे आगामी कार्यक्रमों के लिए महत्वपूर्ण है। 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिन से शुरू होने वाले सेवा सप्ताह में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की जिलों में मौजूदगी रहेगी। यह अभियान दो चरण में 31 अक्टूबर तक चलेगा।  जिसमें सरकार और संगठन के अलग-अलग कार्यक्रम रहेंगे। आज हो रही बैठक में प्रदेश कार्यसमिति और जिला अध्यक्षों के प्रशिक्षण कार्यक्रम पर भी चर्चा हो रही है।  

बीजेपी नेताओं की बैठक में प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के दौरान आम आदमी पार्टी और एआईएमआईएम जैसे दलों की एंट्री को भी गंभीरता से लिया गया है। पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि ऐसे दलों से सावधान रहने की जरूरत है और हमारा फोकस हर बूथ पर 51 प्रतिशत वोट बीजेपी के पक्ष में लाने पर ही होना चाहिए।

ढाई लाख नए कार्यकर्ताओं को देना है जिम्मेदारी
बीजेपी की बैठक में इस बात को भी गंभीरता से लेकर उस पर तेजी से एक्शन लेने के लिए कहा गया कि प्रदेश में पंचायत स्तर पर ढाई लाख कार्यकर्ताओं को नई जिम्मेदारी सौंपी जाना है। अब यह साफ हो गया है कि संगठन हर पंचायत पर 11 लोगों की समिति बनाएगा। इनसे पौधरोपण के साथ संगठन की मजबूती का काम भी कराया जाएगा।

कोर कमेटी की बैठक में लिये जाएंगे मजबूती वाले फैसले, निकाय चुनावों पर चर्चा
बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक भी रविवार की शाम को होने वाली है। इस बैठक में मुख्यमंत्री चौहान, प्रदेश अध्यक्ष शर्मा के अलावा केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा समेत कोर कमेटी में शामिल अन्य नेता मौजूद रहेंगे। इस बैठक में संगठनात्मक मजबूती के लिए फैसले लिए जाने हैं। कल होने वाली बैठक में युवा मोर्चा, नगर पालिका व नगर परिषद के चुनाव की तैयारी, मीडिया विभाग, सोशल मीडिया और आईटी के कामों की समीक्षा के साथ इनके काम में कसावट लाने के निर्देश दिए जाएंगे।

मंत्रियों के परिजनों, निजी स्टाफ के दखल पर भी बात
प्रदेश के मंत्रियों और उनके कामकाज को लेकर भी इन बैठकों में चर्चा होगी। इसके पीछे फोकस मिशन 2023 को माना जा रहा है। बैठक में उन मंत्रियों पर चर्चा होगी जो अपने विभाग पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं, जिनके विभाग के कामकाज में उनके परिजनों और रिश्तेदारो के अलावा निजी स्टाफ का दखल बढ़ता जा रहा है। इसे कैसे रोका जाए? साथ ही कुछ मंत्रियों के संबंध में संगठन के पास ऐसी शिकायतें पहुंची है कि उनके पुत्रों का विभाग में इतना दखल है कि उनके बिना पूछे मंत्री काम नहीं कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने यह बात संगठन को पहुंचाई है कि मंत्रियों के बंगले पर जब वे जाते हैं तो उनका निजी स्टाफ उनसे दुर्व्यवहार करता है साथ ही उनकी समस्याओं के प्रति उनका रवैया ठीक नहीं होता है। कार्यकर्ताओं को मंत्रियों से नहीं मिलने दिया जाता है।

Related Articles

Back to top button