MP Political News: मध्य प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP, केजरीवाल ने किया ऐलान

MP Political News: आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव का शंखनाद किया है।

MP Political News: उज्जवल प्रदेश, भोपाल. आम आदमी पार्टी (AAP) ने मध्य प्रदेश में विधान सभा चुनावों में सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी के पदाधिकारी ने बताया कि आम आदमी पार्टी दिल्ली सरकार के मॉडल को आगे बढ़ाएगी और मध्य प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस को निशाना बनाएगी। उन्होंने दोनों पार्टियों पर विनाशकारी राजनीति करने का आरोप लगाया है। राज्य में इसी साल के अंद में चुनाव होने हैं।

आम आदमी पार्टी संगठन महासचिव संदीप पाठक ने बताया कि मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन किया है और इसी को देखते हुए फैसला लिया गया है कि वहां आम आदमी पार्टी विधानसभा चुनाव लड़ेगी और अगली सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि हम सभी विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवार उतारेंगे और अपनी पूरी ताकत से चुनाव लड़ेंगे।

जनसभा के दौरान दिल्ली सीएम केजरीवाल ने कहा कि मध्य प्रदेश के लोग एक मौका दो, मध्य प्रदेश में हम फ्री बिजली देंगे। पंजाब में मान साहब बेहद शानदार काम कर रहे हैं। अमीर से लेकर गरीब तक दिल्ली में सबका इलाज मुफ्त में होता है। मध्य प्रदेश के लोगों को मुफ्त इलाज देंगे। हमारी नीयत साफ है मुझे नौकरी देनी आती है। एक मौका देकर देखो। हमारे दो शानदार मंत्री सत्येंद्र और मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किया गया। केजरीवाल के ऊपर कीचड फेंका जा रहा है।

मध्य प्रदेश में 2018 के विधानसभा चुनावों ने त्रिशंकु विधानसभा का नेतृत्व किया, जिसमें कांग्रेस 230 सदस्यीय सदन में 114 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी, लेकिन बहुमत हासिल करने में विफल रही। बीजेपी ने 109 सीटों पर जीत हासिल की थी।

कांग्रेस ने बाद में कमलनाथ के नेतृत्व में गठबंधन सरकार बनाई। हालांकि, मार्च 2020 में कांग्रेस के कई विधायकों के भाजपा में जाने के बाद भगवा पार्टी के सत्ता में लौट आई।

इतना ही नहीं, सीएम केजरीवाल ने कहा कि मोदी जी आम आदमी पार्टी से डरते हैं। ये कहते हैं कि भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाने के लिए केजरीवाल जिद्दी है. जिस दिन प्रधानमंत्री ने मनीष सिसोदिया को जेल भेजा, मुझे लगा देश का प्रधानमंत्री पढ़ा-लिखा होना चाहिए। अगर देश के प्रधानमंत्री पढ़े-लिखे होते तो उन्हें शिक्षा का महत्व पता होता।

 

केजरीवाल ने सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी को लेकर पीएम मोदी पर भी जोरदार प्रहार किया। उन्होंने कहा कि जिस दिन मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किया गया उन्हें लगा कि देश का प्रधानमंत्री पढ़ा लिखा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पीएम कम पढ़ा लिखा हो तो कोई भी बेवकूफ बना सकता है।

पंजाब के सीएम भगवंत मान के साथ भोपाल पहुंचे केजरीवाल ने मध्य प्रदेश की जनता से एक मौका देने की अपील की। इस दौरान उन्होंने जेल में बंद पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन और मनीष सिसोदिया की खूब तारीफ की और कहा कि अच्छा काम करने से रोकने के लिए दोनों को जेल में डाल दिया गया। उन्होंने सत्येंद्र जैन को इंटलिजेंट आदमी बताते हुए कहा कि उन्होंने ही दिल्ली को मुफ्त बिजली देने का हिसाब किताब बताया। केजरीवाल ने कहा कि सत्येंद्र जैन ने मुफ्त इलाज की व्यवस्था की तो सिसोदिया ने सरकारी स्कूलों को शानदार बना दिया।

केजरीवाल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी ने मनीष सिसोदिया को जेल भेज दिया। उस दिन मुझे लगा कि देश के प्रधानमंत्री पढ़े लिखे होने चाहिए। अगर देश के प्रधानमंत्री पढ़े लिखे होते तो उनको शिक्षा का महत्व पता होता। यदि देश के प्रधानमंत्री देशभक्त होते तो वह यह नहीं सोचते कि सोसोदिया आम आदमी पार्टी का है या कि किस पार्टी का है। वह मनीष सिसोदिया जैसे शख्स को देश का शिक्षा मंत्री बना देते और कहते कि तू देश के 10 लाख स्कूल ठीक कर दे। लेकिन उन्होंने जेल में डाल दिया। उस दिन मुझे लगा कि देश का पीएम पढ़ा लिखा हो।’

आप संयोजक ने जब पीएम मोदी पर निशाना साधना शुरू किया तो बेहद तीखे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए वह जमकर बरसे। दिल्ली के सीएम ने नोटबंदी और कोरोना में थाली बजवाने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि पीएम पढ़ा लिखा नहीं होगा तो कोई भी बेवकूफ बना देगा। उन्होंने कहा, ‘कम पढ़ा लिखा पीएम होगा तो कोई भी बेवकूफ बना देगा। कोई आकर कहेगा सर आप नोटबंदी कर दो भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा। अब अगर कम पढ़ा लिखा पीएम होगा, उन्हें समझ नहीं है, नोटबंदी कर दी, क्या भ्रष्टाचार खत्म हो गया? कोई आकर कहेगा कि नोटबंदी कर दो आतंकवाद खत्म हो जाएगा, हुआ क्या? पूरा देश लाइन में लगा दिया। पूरा देश चौपट हो गया। ना भ्रष्टाचार खत्म हुआ ना आतंकवाद। कोई कहेगा कि सबसे थाली बजवाओ कोरोना खत्म हो जाएगा। सारे देश से थाली बजवा दी। इसलिए मैं कह रहा हूं कि देश के पीएम को पढ़ा लिखा होना चाहिए।’

Related Articles

Back to top button