आधारकार्ड से सत्यापन के बाद ही मतदाता सूची में जोड़े जाए नए नाम : कांग्रेस

MP News : लक्ष्मण सिंह और जे.पी.धनोपिया ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन से आगामी विस चुनाव को दृष्टिगत रख मतदाता सूचियों में नाम जोड़ने में हो रही अनियमितताओं की जांच कर कार्यवाही किये जाने की मांग की है।

MP News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. चाचौडा के कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह और प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं प्रभारी चुनाव आयोग कार्य जे.पी.धनोपिया ने प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन से भेंट कर आगामी विधानसभा चुनाव को दृष्टिगत रख मतदाता सूचियों में नाम जोड़ने में हो रही अनियमितताओं की जांच कर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। साथ ही यह भी कहा कि आधारकार्ड से सत्यापन करने के बाद की मतदाता सूची में नये नाम जोड़े जायंे।

नेताद्वय ने कहा कि आगामी विधानसभा आम चुनाव 2023 के परिप्रेक्ष्य में मतदाता सूचियों के पुनर्रीक्षण का कार्य चल रहा है, मतदाता सूची में नवीन मतदाता की श्रेणी में 18 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके युवाओं के नाम प्राथमिकता के आधार पर जोड़ने के लिए प्रारूप 6 प्राप्त किए जा रहे है तथा नाम जोड़ने वाले प्रारूप फार्म 6 के साथ आधार कार्ड की छायाप्रति संलग्न की जा रही है।

18 वर्ष की आयु के मतदाताओं के नाम जोड़ने की प्रक्रिया के अन्तर्गत जानकारी प्राप्त हो रही है कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं एवं कार्यर्क्ताओं द्वारा बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा कर मतदाता सूची में नए मतदाताओं के नाम जोड़ने का कार्य कराया जा रहा है, जिसमें बीएलओ की अनभिज्ञता, लापरवाही या सहयोग किये जाने की जानकारी मिल रही है।

नेताद्वय ने कहा कि कोई भी नया युवा मतदाता जिसकी आयु 18वर्ष या 17वर्ष हो चुकी है, उनसे मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए प्रारूप 6 में आवेदन प्राप्त किए जा रहे है, साथ में उनके आधार कार्ड की छायाप्रति प्राप्त की जा रही है। जानकारी अनुसार आधार कार्ड की छायाप्रति में जन्म तिथि के वर्ष में हेराफेरी कर फोटो कापी प्रस्तुत की जा रही है, उक्त आधार कार्ड की फोटो कापी का सत्यापन बीएलओ द्वारा मूल आधार कार्ड से नहीं किया जा रहा है।

नेताद्वय ने कहा कि मतदाता सूची मंें नाम जोडने हेतु प्राप्त प्रारूप 6 के साथ संलग्न आधार कार्ड की फोटो कापी के आधार पर नाम, ना जोड़ा जाए तथा मूल आधार कार्ड से जन्मतिथि को बीएलओ द्वारा अपने हस्ताक्षर एवं पद नाम की सील लगाकर सत्यापति किया जावे जिससे कि फर्जी नामों के उजागर होने पर संबंधित बीएलओ के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही हो सकेगी।

नेताद्वय ने सुझाव दिया है कि वर्तमान में 17-18 वर्ष के जो भी युवा मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वा रहे हैं वे निश्चित रूप से शिक्षित होंगे, इसलिए उनसे 10वीं या 12वीं की मार्कशीट एवं आधार कार्ड की छायाप्रति नाम जोड़ने वाले प्रारूप 6 के साथ संलग्न कराना आवश्यक किया जाये, जिससे फर्जी मतदाता के नाम मतदाता सूची में शामिल न हो सकें।

Related Articles

Back to top button