Rdवाले नेताओं से Rahul Gandhi सख्त नाराज, साथ में फोटो तक नहीं लेने दिया

राजस्थान
Congress के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर मल्लिकार्जुन खड़गे के चुने जाने के बाद राजस्थान की राजनीति को गरमाने की कुछ लोग फिर से कोशिश में जुट गए हैं। लेकिन ऐसा कुछ नहीं होने वाला है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ नवनियुक्त अध्यक्ष खड़गे को भी सच का पता चल गया है कि किन लोगों ने गहलोत सरकार के खिलाफ साजिश की थी। कांग्रेस की अब एक ही कोशिश है कि राजस्थान जैसे राज्य के साथ किसी प्रकार की कोई छेड़छाड़ नहीं की जाए। पार्टी की तरफ से अब स्थिति को सामान्य बनाने के प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। पार्टी के भीतर राजस्थान को लेकर माहौल बिगाड़ने वाले नेताओं से राहुल गांधी सख्त नाराज हैं।

 
कांग्रेस में अशोक गहलोत का कद बरकरार
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्ष के चुनाव में सक्रियता और उसके बाद खडके को वरिष्ठ नेताओं के साथ जाकर सबसे पहले बधाई देना। वहीं पर अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का मुस्कुराकर स्वागत करने से यह तो साफ हो गया है कि अशोक गहलोत का पार्टी में पुराना कद बरकरार है। हालांकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कर्नाटक के बेल्लारी में राहुल गांधी से हुई मुलाकात से पहले ही साफ हो गया था कि राजस्थान में सब कुछ ठीक हो गया है।
 

राजस्थान में अस्थिरता फैलाने वाले नेताओं से राहुल गांधी की नाराजगी
पार्टी सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी राजस्थान में अस्थिरता फैलाने वाले नेताओं से खासे नाराज हैं। सवा दो साल पहले जिन लोगों ने सरकार गिराने के लिए बीजेपी से हाथ मिलाया था। उन लोगों को राहुल गांधी ने अभी तक माफ नहीं किया है। कोशिश तो यहां तक हुई है कि किसी तरह से राहुल गांधी के साथ तोड़फोड़ में शामिल कुछ विधायकों की ग्रुप फोटो हो जाए। लेकिन राहुल ने मिलने से ही मना कर दिया यूपी के कुछ नेता लंबे समय से लगे हैं कि राहुल गांधी सरकार गिराने वाला घटनाक्रम भूल जाए। लेकिन फिर से घटी घटना ने मामले को ताजा कर दिया है। राजस्थान में पिछले दिनों जो भी घटा। उसे पार्टी के नेता और कार्यकर्ता बहुत बड़ा षड्यंत्र मान रहे हैं। क्योंकि पूरे घटनाक्रम से पार्टी को बड़ा नुकसान हुआ है। गांधी परिवार के सबसे भरोसेमंद नेता अशोक गहलोत की छवि बिगाड़ने के लिए पूरी ताकत लगाई गई। पार्टी के अधिकांश प्रमुख और बड़े नेताओं ने भी पूरे घटनाक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का साथ दिया है।
 
राजस्थान से छेड़छाड़ करने वालों से कांग्रेस अध्यक्ष भी नाखुश
कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे भी राजस्थान को छेड़ने से खुश नहीं थे। इन नेताओं की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि गहलोत जैसे नेता के साथ इस तरह की राजनीति क्यों की गई। वह भी तब जब राहुल गांधी ने अभी तक बीजेपी के साथ हाथ मिलाने वालों को माफ नहीं किया। पूरी पार्टी में यही चर्चा है कि मीडिया में माहौल बनाकर मजबूत सरकार को गिराने का कोई बड़ा षड्यंत्र तो नहीं था। पार्टी अपने तरीके से इस पूरे मामले को देखेगी। फिलहाल यही कोशिश है कि चुनावी साल में राजस्थान के साथ छेड़छाड़ की बजाय मजबूती दी जाए। जिससे गहलोत की अगुवाई में पार्टी वापसी कर सकें।

 

Related Articles

Back to top button