राज्यसभा चुनाव: झारखंड में कांग्रेस-JMM में तकरार, सोनिया गांधी से मिल सकते हैं हेमंत सोरेन

नई दिल्ली।

 झारखंड से राज्यसभा सीट को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और कांग्रेस के बीच जोर-आजमाइश जारी है। झामुमो जहां अपनी दावेदारी जता रही है, वहीं कांग्रेस अपनी शर्तों पर सीट चाहती है। पार्टी का कहना है कि झामुमो को सीट कांग्रेस को देनी होगी। उम्मीदवार कौन होगा, इसका फैसला कांग्रेस अध्यक्ष करेंगी।कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि हमने झामुमो को साफ बता दिया है कि इस बार राज्यसभा सीट पर उसकी दावेदारी है। पिछली बार जेएमएम अध्यक्ष शिबू सोरेन को जिताकर राज्यसभा भेजा था। झामुमो को गठबंधन धर्म निभाते हुए इस बार राज्यसभा सीट कांग्रेस को देनी चाहिए। कांग्रेस झामुमो गठबंधन सरकार में शामिल है।

सोरेन से मिलने का आग्रह
पार्टी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने का भी आग्रह किया है। कांग्रेस नेता ने कहा कि उम्मीद है कि मुख्यमंत्री जल्द पार्टी अध्यक्ष से मिलेंगे और कयास बंद हो जाएंगे। यह पूछे जाने पर कि झामुमो ने सीट नहीं दी तो पार्टी क्या करेगी, उन्होंने कहा कि इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।
 
…तो गठबंधन धर्म का उल्लंघन
झारखंड कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि हमें उम्मीद है कि झामुमो दावेदारी नहीं करेगी। हेमंत सोरेन इस सीट के लिए कांग्रेस के किसी उम्मीदवार के नाम का सुझाव भी नहीं देंगे। झामुमो नहीं मानती है, तो यह गठबंधन धर्म का उल्लंघन होगा।

अविनाश पांडे ने की सोनिया से मुलाकात
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और झारखंड के प्रभारी अविनाश पांडे ने सोनिया गांधी से मुलाकात की है। इसके बाद पांडे ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष से झारखंड के राजनीतिक हालात और राज्यसभा चुनाव पर भी चर्चा हुई।

 

Related Articles

Back to top button