प्रदेश कांग्रेस नहीं बना सकी 50 लाख सदस्य, प्रदेश चुनाव अधिकारी खुंटिया नाराज

भोपाल
कांग्रेस के बूथ से लेकर प्रदेश तक के नेता पार्टी के सदस्यता अभियान का टारगेट पूरा करने में सफल नहीं हो सकें है। सदस्यता अभियन को 15 दिन बढ़ाने के बाद भी प्रदेश कांग्रेस को मिले टारगेट से बहुत दूर रह गई। प्रदेश कांग्रेस को 50 लाख सदस्य बनाने का टारगेट मिला था, लेकिन अब तक 25 लाख ही सदस्य बनाए जाने की जानकारी प्रदेश कांग्रेस कार्यालय तक पहुंची है। यह अभियान 15 अप्रैल को खत्म हो चुका है। प्रदेश चुनाव अधिकारी रामचंद्र खुंटिया इतनी कम सदस्यता से नाराज बताए जाते हैं, इसके चलते उन्होंने इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से चर्चा की है।

सूत्रों की मानी जाए तो प्रदेश कांग्रेस के पास सोमवार तक लगभग 25 लाख सदस्य बनाए जाने की जानकारी और उनका शुल्क जमा हो चुका है। कुछ जिलों से अभी पूरी जानकारी नहीं आई है। ऐसा माना जा रहा है कि जिलों में 3 से 5 लाख तक सदस्यों की जानकारी प्रदेश कांगे्रस कार्यालय नहीं पहुंची है। इस अंदाजे को भी मिला लिया जाए तो कांग्रेस साढ़े पांच महीनों में सिर्फ 30 लाख ही सदस्य बना सकी। जबकि कमलनाथ ने 50 लाख सदस्य बनाने का टारगेट बूथ से लेकर प्रदेश पदाधिकारियों को दिया था।

सदस्यता अभियान की समीक्षा करने के लिए रामचंद्र खुटिया सोमवार को भोपाल आए, जब उन्हें यह पता चला कि टारगेट सिर्फ 50 फीसदी हुआ है। इससे नाराज होकर उन्होंने कमलनाथ से बंद कमरे में चर्चा की। करीब आधे घंटे दोनों नेताओं के बीच सदस्यता अभियान का टारगेट पूरा नहीं होने पर चर्चा हुई।

बढ़ा दिए थे 15 दिन
प्रदेश में एक नवम्बर 2021 से सदस्यता अभियान शुरू किया गया था। तब तय किया गया था कि प्रदेश में 50 लाख सदस्य बनाए जाएंगे। यह अभियान 31मार्च तक चलना था, लेकिन 31 मार्च तक कांग्रेस टारगेट पूरा करने में बहुत पीछे रहीं, नतीजे में पार्टी ने 15 दिन बढ़ाते हुए इस अभियान को 15 अप्रैल तक का कर दिया था।

Related Articles

Back to top button