प्रदेश राज्यसभा सदस्य कविता-सुमित्रा और विवेक तन्खा का निर्विरोध निर्वाचन

भोपाल
मध्यप्रदेश से राज्यसभा के लिए तीनों प्रत्याशी निर्विरोध चुन लिए गए हैं। भाजपा की तरफ से कविता पाटीदार और सुमित्रा वाल्मीकि मैदान में थीं, जबकि कांग्रेस ने विवेक तन्खा को कैंडिडेट बनाया था। मध्यप्रदेश से इनमें से दो उम्मीदवार भाजपा जबकि एक कांग्रेस का था। कांग्रेस के विवेक तन्खा और भाजपा की सुमित्रा बाल्मीक यह दोनों ही जबलपुर से है वही बीजेपी की दूसरी कैंडिडेट कविता पाटीदार इंदौर से है, निर्वाचित होने के बाद बीजेपी की दोनों कैंडिडेट अब पहली बार राज्यसभा पहुंचेगी, वही विवेक तन्खा दूसरी बार राज्यसभा जायेगे। बता दें कि राज्यसभा में मध्य प्रदेश से तीन सदस्यों का कार्यकाल 29 जून को खत्म हो रहा है। इनमें से दो भाजपा के संपतिया उइके व एमजे अकबर और कांग्रेस के विवेक तन्खा शामिल हैं।

मध्य प्रदेश में राज्यसभा की कुल 11 सीटें
हालांकि तस्वीर पहले ही साफ थी कि तीनों ही उम्मीदवार के निर्विरोध निर्वाचित होंगे, क्युकी इनके सामने किसी और प्रत्याशी के न होने के चलते तीनों को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया। कांग्रेस ने बीजेपी से पहले ही अपने उम्मीदवार के तौर पर विवेक तन्खा का नाम घोषित कर दिया था वही बीजेपी ने महिला उम्मीदवारों के ऐसे नामों की घोषणा की थी जिसे सुनकर लोग हैरान रह गए थे, गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में राज्यसभा के लिए ग्यारह सीटें हैं जिनमें से आठ सीटें भाजपा और तीन सीटें कांग्रेस के पास हैं। भाजपा की आठ सीटों में से छह सीटों पर धर्मेंद्र प्रधान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, एम मुरुगन, सुमेर सिंह सोलंकी, अजय प्रताप सिंह, कैलाश सोनी राज्यसभा सदस्य हैं और अब दो महिला कविता पाटीदार व सुमित्रा वाल्मीकि राज्यसभा जा रही हैं। वहीं, कांग्रेस की तीन सीटों में से दिग्विजय सिंह व राजमणि पटेल अभी राज्यसभा में हैं।

Related Articles

Back to top button