कांग्रेस के नाराज नेताओं की बैठक ने बढ़ाई पार्टी की चिंता

भोपाल
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में विक्रम अहाके के टिकट से नाराज पार्टी के नेता मानने को तैयार नहीं है। यहां से बालाराम परतेती के समर्थक में नाराज कांग्रेसी लगातार बैठक कर चुनाव प्रचार की रणनीति बना रहे हैं। इनकी बैठकों से कांग्रेस की यहां पर चिंता बढ़ गई है। वहीं छिंदवाड़ा जिला पंचायत में भी कांग्रेस का समर्थन नहीं मिलने पर एक वार्ड में जबरदस्त विरोध हुआ, जिसके चलते तीन नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया गया है।

कांग्रेस की छिंदवाड़ा सहित कुछ नगर निगमों में महापौर के लिए बागी होकर नामांकन भरने वालों ने चिंता बढ़ा दी है। छिंदवाड़ा में बालाराम परतेती के समर्थन में कामिनी शाह के निवास पर हुई बैठक में यहां के आदिवासी नेता नेपाल सिंह उइके, विजय कुसरे, सीताराम उइके, संजय परतेती सहित कई लोगों ने बैठक कर परतेती के चुनाव प्रचार की रूपरेखा तैयार की। इसके खबर लगते ही पार्टी के जिम्मेदार लोगों ने इनको मनाने का काम शुरू किया है। बालाराम परतेती मानने को तैयार नहीं हैं। उन्हें आज और कल मनाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। वहीं छिंदवाड़ा के जिला पंचायत के वार्ड 11 में भी कांग्रेस में घमासान हो गया है। इसके चलते पार्टी ने यहां से कुछ लोगों को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर कर दिया है। इसी तरह की स्थिति सतना, सिंगरौली, देवास समेत अन्य नगर निगमों में भी बनी हुई है।

रतलाम में 35 बागी
इधर रतलाम में भी कांग्रेस की मुश्किल कम होने का नाम नहीं ले रही है। यहां पर कांग्रेस के 35 बागी सामने आए है। सभी ने विभिन्न वार्डो से नामांकन भरा है। इनके साथ ही महापौर के लिए भी कांग्रेस की ओर से दो और नामांकन हैं। यहां से कांग्रेस के अधिकृत उम्मीदवार मयंक जाट के अलावा राजीव रावत और प्रकाश राठौर ने भी नामांकन भरा है। पार्षद के लिए बागी होकर नामांकन भरने वालों को भी मनाया जा रहा है। कांग्रेस आश्वस्त हैं कि उसके सभी नाराज नेता आज- कल में मान जाएंगे और अपना नामांकन वापस ले लेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button