सचिन पायलट ने हाईकमान से की तुरंत CM बनाने की मांग: सूत्र

जयपुर
राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 से पहले राजस्थान में सियासी हलचल तेज हो गई है। सूत्राें का दावा है कि कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने सोनिया गांधी से मुलाकात अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री पद से हटाने की मांग की है। सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट ने पिछले दिनों गांधी परिवार के साथ तीन बैठकें की है। बताया जाता है कि इस दौरान पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से कहाकि गहलोत को हटाने में देर करने पर राजस्थान में पंजाब जैसी स्थिति हो जाएगी। सूत्रों का यह भी कहना है कि सचिन पायलट ने सोनिया से खुद को सीएम बनाने की मांग भी की है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में सचिन पायलट ने नई दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि सचिन पायलट ने सोनिया गांधी से साफ शब्दों में कह दिया कि यदि राजस्थान में कांग्रेस सरकार रिपीट करनी है तो अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री पद से हटाना ही होगा। एनडीटीवी के मुताबिक पायलट ने खुद को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है। पायलट से पहले सोनिया गांधी ने सीएम अशोक गहलोत को नई दिल्ली में मुलाकात के लिए बुलाया था। वहीं पांच दिन पहले ही सीएम गहलोत ने जयपुर में एक कार्यक्रम में कहा था कि मेरा इस्तीफा तो परमानेंट सोनिया गांधी के पास रखा हुआ है।

अशोक गहलोत ने कही थी यह बात
उल्लेखनीय है कि सीएम अशोक गहलोत ने 23 अप्रैल को राजधानी जयपुर में राजस्व सेवा परिषद के एक कार्यक्रम में बड़ा सियासी बयान देकर चौंका दिया था। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दिल्ली में सचिन पायलट के सोनिया गांधी से मिलने के दो दिन बाद बड़ा बयान दिया था। सीएम गहलोत ने कहा कि मेरा इस्तीफा तो 1998 से परमानेंट सोनिया गांधी के पास में है। जब मुख्यमंत्री बदलना होगा तो किसी को कानो-कान खबर तक नहीं लगेगी। यह काम रातो-रात हो जाएगा। इस पर कोई चर्चा और चिंतन नहीं होगा। सीएम गहलोत ने कहाकि सोनिया गांधी फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है। मैं आप लोगों से आग्रह करूंगा कि अफवाहों पर ध्यान न दें।  

राजस्थान में 2023 के अंत तक चुनाव
राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 के अंत तक होने वाले हैं। कांग्रेस आलाकमान का फोकस राजस्थान पर है। सचिन पायलट ने 21 अप्रैल को नई दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। पायलट से मुलाकात के एक दिन पहले ही सीएम गहलोत सोनिया गांधी से मिले थे। पायलट ने कांग्रेस आलाकमान से मुलाकात के बाद दिल्ली में प्रेस वार्ता कर कहा था कि राजस्थान कांग्रेस के हालात पर सोनिया गांधी को अवगत कराया गया है। पार्टी 2023 के चुनावों में एक बार जीत हासिल करेगी। 

Related Articles

Back to top button