इस विश्वकर्मा जयंती पर अपनी राशि के अनुसार करें खास पूजा, होगा बड़ा लाभ

निर्माण के देवता भगवान विश्वकर्मा की जयंती हर साल की तरह इस साल भी 17 सितंबर को मनाई जाएगी। वैसे तो विश्वकर्मा जी की जयंती को लेकर दो अलग अलग मत है। कुछ लोगों का कहना है कि इनका जन्म अश्विन कृष्णपक्ष की प्रतिपदा तिथि को हुआ था, वहीं कुछ लोगों का मनाना है कि भाद्रपद की अंतिम तिथि को भगवान विश्वकर्मा की जयंती होती है। विश्वकर्मा पूजा की तिथि को सूर्य के पारगमन के आधार पर तय किया जाता है।

कहते हैं भगवान विश्वकर्मा ने हमारे देवी देवताओं के लिए भव्य महलों, सिंहासन से लेकर उनके शस्त्रों तक का निर्माण किया है। इन्हें ब्रह्मा जी के सातवे धर्मपुत्र के रूप में जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन विधि विधान से इनकी पूजा करने से मनुष्य के जीवन से दरिद्रता सदैव के लिए दूर रहती है और व्यापार भी बढ़ता है।

मेष:
अगर आप केसरिया रंग के वस्त्र धारण करके पूजा करेंगे तो आपके लिए यह बहुत ही शुभ रहेगा।

वृषभ:
वृषभ राशि के जातक विश्वकर्मा जी की पूजा के बाद श्री कुबेर जी की 11 माला जाप अवश्य करें। आपको ज़रूर सफलता मिलेगी।

मिथुन:
आप हरे रंग के वस्त्र धारण करें। इसके अलावा गणेश जी की पूजा करने के बाद ही आप विश्वकर्मा जी की पूजा करें। आज गरीबों में केला दान करना आपके लिए बेहद शुभ रहेगा।

कर्क:
आज शिव जी की भी पूजा करना आपके लिए बहुत फलदायक रहेगा। साथ ही गरीबों में सफ़ेद अन्न का दान करना भी आपके लिए अच्छा होगा।

सिंह:
आज ध्यान से सूर्यदेव को जल अर्पित करें और जल में लाल फूल ज़रूर डालें।

कन्या:
यह विश्वकर्मा पूजा आपके लिए बहुत ही शुभ रहने वाला है क्योंकि चंद्रमा आपके लाभ का स्वामी है और यह आपके सुख स्थान पर रहेगा इसलिए आपकी सभी मनोकामना पूर्ण होगी।

तुला:
इस विश्वकर्मा पूजा पर शनिदेव की कृपा आप पर बरसगी और आपको अपने सभी कार्यों में सफलता मिलेगी।

वृश्चिक:
आप साबुत मसूर की दाल गाय को खिलाएं। इससे आपके व्यापार में आ रही सभी बाधाएं दूर होगी।

धनु:
यदि आप आज के दिन श्री गणेश, माता गौरी और महादेव को वस्त्र अर्पित करेंगे तो आपको विशेष लाभ प्राप्त होगा।

मकर:
आप गायत्री मंत्र का जाप करें साथ ही अपने कारखाने के सभी उपकरणों की शुद्धि करवा कर ही पूजन करें।

कुम्भ:
कुश के आसन पर बैठकर पूजन करें और भगवान विश्वकर्मा को पारिजात के फूल अर्पित करें। आपको ज़रूर लाभ मिलेगा।

मीन:
भगावन विश्वकर्मा के साथ साथ आप विष्णु जी की भी पूजा करें। आप पर ईश्वर की कृपा ज़रूर बरसेगी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button