142 दिन बाद शनि हो रहे हैं मार्गी, देखिए किन-किन लोगों और राशियों की बजेगी घंटी

142 दिन की उलटी चाल के बाद 6 सितम्बर, 2018 की शाम 4 बजकर 22 मिनट पर पुष्य नक्षत्र, वरियान योग, तैतिल करण और कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि में शनिदेव देव मार्गी हो रहे हैं। आकाश मंडल में घटित होने वाली ये महत्वपूर्ण घटना है। 18 अप्रैल, 2018 से शनि वक्री हो गए थे। वक्री यानी उलटा। वक्र गति के बावजूद शनिदेव अपने विरोधी देवगुरु बृहस्पति की राशि धनु में ही चलायमान रहे।

वक्री होने पर ग्रह अपने स्वभाव के विपरीत आचरण करते है। शनि न्यायप्रिय ग्रह है। लिहाज़ा वक्री होने पर उसका व्यवहार उलटा हो जाता है। जगत शनिदेव की इसी टेढ़ी चाल को पिछले लगभग 5 महीने से भोग रहा है। शनि के मार्गी होने के बाद न्याय प्रणाली से जुड़े विवाद अब धीरे-धीरे खत्म होते जाएंगे।

न्याय व्यवस्था को शक्ति प्राप्त होगी। न्यायालय दोषियों के प्रति अचानक धारदार व आक्रामक हो जाएगा। वृष, कन्या, वृश्चिक, धनु और मकर राशियों के कष्टों में सहसा कमी होगी और उनको अंतर्द्वंद व बेचैनी से राहत मिलेगी।

शेयर बाज़ार को लाभ होगा। धर्म गुरुओं के लिए नयी आफत का मार्ग प्रशस्त होगा। आने वाले समय में किसी बड़े धार्मिक नेता का नाम विवादों में आएगा। जनता के विघ्नों का नाश होगा। अर्थव्यवस्था में सुधार के मामूली संकेत मिलेंगे। ये अलग बात है कि वो ऊंट के मुंह में जीरा सिद्ध होगा।अग्निकाण्ड जारी रहेंगे। मॉबलिंचिंग में कमी आएगी। किसी के यौन कृत्य की खबर विचलित करेगी।

लोगों की राजनैतिक विचारधारा बदलेगी। नैतिक मूल्यों का ह्रास होगा। कोई बड़ा धार्मिक और राजनैतिक ऐलान भी होने की पूर्ण संभावना है। नेताओं की जुबान खूब फिसलेगी। नेता मर्यादा के प्रतिकूल आचरण करते दिखाई देंगे। लोगों के धैर्य में कमी आएगी और आंदोलन होंगे। शिक्षा और शिक्षण संस्थानों को लेकर कोई विवाद सामने आएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button