अश्विन माह शुरू,नवरात्रि समेत इस महीने पड़ेगे ये व्रत-त्योहार

हिंदू कैलेंडर का सातवां और चातुर्मास का तीसरा माह अश्विन मास की शुरुआत हो गई है. ये माह पितरों और देवी दुर्गा को समर्पित है. अश्विन महीने में पितृ पक्ष इस बार 16 दिन के होंगे वहीं 26 सितंबर 2022 से शारदीय नवरात्रि की शुरुआत हो जाएगी. अश्विन महीना 9 अक्टूबर 2022 तक चलेगा, इससे बाद कार्तिक लग जाएगा. आइए जानते हैं अश्विन माह के बड़े व्रत-त्योहार.

आश्विन मास 2022 के व्रत और त्योहार
    11 सितंबर 2022, रविवार- आश्विन माह प्रारंभ, कृष्ण पक्ष प्रतिपदा

    13 सितंबर 2022, मंगलवार- विघ्नराज संकष्टी चतुर्थी व्रत

    17 सितंबर 2022, शनिवार- कन्या संक्रांति, विश्वकर्मा पूजा, महालक्ष्मी व्रत

    18 सितंबर 2022, रविवार- जीवित्पुत्रिका व्रत

    21 सितंबर 2022, बुधवार- इंदिरा एकादशी व्रत

    23 सितंबर 2022, शुक्रवार- शुक्र प्रदोष व्रत

    24 सितंबर 2022, शनिवार,- आश्विन शिवरात्रि

    25 सितंबर रविवार,- सर्व पितृ अमावस्या, आश्विन अमावस्या, महालया, पितृपक्ष समापन

    26 सितंबर 2022, सोमवार- महाराजा अग्रसेन जयंती, शारदीय नवरात्रि शुरू, कलश स्थापना, मां शैलपुत्री की पूजा

    29 सितंबर 2022, गुरुवार,- विनायक चतुर्थी व्रत

    30 सितंबर 2022, शुक्रवार- ललिता पंचमी व्रत

    03 अक्टूबर 2022, सोमवार- महाष्टमी पूजा, दुर्गा अष्टमी, कन्या पूजन

    04 अक्टूबर 2022, मंगलवार- नवरात्रि पारण, दुर्गा नवमी

    05 अक्टूबर 2022, बुधवार- दशहरा, विजयादशमी, दुर्गा प्रतिमा विसर्जन, रावण पुतला दहन

    06 अक्टूबर 2022, गुरुवार- पापांकुशा एकादशी व्रत

    07 अक्टूबर 2022, शुक्रवार- प्रदोष व्रत

    09 अक्टूबर 2022, रविवार- कोजागर पूर्णिमा व्रत, आश्विन पूर्णिमा व्रत, शरद पूर्णिमा

जीवित्पुत्रिका व्रत 2022 (Jivitputrika Vrat 2022)

पंचांग के अनुसार, आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि का प्रारंभ 17 सितंबर को दोपहर 02 बजकर 14 मिनट से हो रहा है और यह तिथि अगले दिन 18 सितंबर को शाम 04 बजकर 32 मिनट तक मान्य है. ऐसे में जीवित्पुत्रिका व्रत 18 सितंबर दिन रविवार को रखा जाएगा.

विश्‍वकर्मा जयंती शुभ मुहूर्त (Vishwakarma Puja 2022)

विश्‍वकर्मा जयंती 17 सितंबर शनिवार के दिन सुबह 7.38 मिनट से शुभ योग है उस समय पूजा करें लाभ मिलेगा. इसके बाद 11.57 मिनट मिनट से 13. 38 तक का समय बेहद ही शुभ रहेगा.इस दिन सिद्धि योग रहेगा.

शारदीय नवरात्रि (Shardiya Navratri 2022)

शारदीय नवरात्रि का हिंदू धर्म में खास महत्व है. यह त्योहार 26 सितंबर से शुरू हो रहे हैं. नवरात्रि में 9 दिन तक मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा होती है.

दशहरा (Dussehra 2022)

दशहरा बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है. इस दिन रावण दहन किया जाता है. मान्यता है कि विजयादश्मी के दिन ही भगवान श्रीराम ने रावण का वध किया था. इसके अलावा इस दिन मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन किया जाता है.

 

Related Articles

Back to top button